Sunday, July 4th, 2021

now browsing by day

 
Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

पानीपत पुलिस ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले मे गिरोह के मुख्य सरगना मोहम्मद सहवार व उसके तीन साथियों से पुलिस रिमांड के दोरान 48 लाख रूपये, नकली रेपर व डिब्बे बरामद

पानीपत पुलिस ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले मे गिरोह के मुख्य सरगना मोहम्मद सहवार व उसके तीन साथियों से पुलिस रिमांड के दोरान 48 लाख रूपये, नकली रेपर व डिब्बे बरामद

आरोपी मोहम्मद शहवार, शाहआलम व मोहम्मद अरसद को पंजाब की रोपड़ जेल से बिते दिनों सीआईए-थ्री पानीपत पुलिस की टीम प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी । वही इनके साथी अखलद उर्फ अली को सहारनपुर से गिरफतार कर लाई थी ।

पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन जी ने लधु सचिवालय के ततीय तल पर स्थित पुलिस विभाग के सभागार मे प्रेसवार्ता कर बताया की कोविड-19 महामारी के दौरान सजगता व सर्तकता से कार्रवाही करते हुए सीआईए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर ने अपनी टीम के साथ मई माह मे सैक्टर-13/17 कट से गोरव जैन निवासी सैक्टर-13/17 पानीपत को नकली रेमडेसिविर इन्जेक्शन की कालाबजारी करते 4 इंजेक्शनों सहित काबू किया था । आरोपित गोरव जैन के खिलाफ थाना सेक्टर 13/17 मे ड्रग व कास्मेटिक एक्ट व आईपीसी की विभिन्न धाराओ के तहत मुकदमा दर्ज कर गहनता से पूछताछ की तो गौरव ने बताया थी की वह उक्त इंजेक्शनों को बीएएमएस डॉक्टर योगेश से लेकर आया था उसको एक इंजेक्शन पर 2 हजार रूपये कमीशन मिलना था । डॉक्टर योगेश बरसत रोड़ पर एक गौशाला मे डिस्पेंसरी पर नोकरी करता है । सीआईए-थ्री पुलिस की टीम ने दंबिस देते हुए आरोपित डॉक्टर योगेश को गिरफ्तार कर पुछताछ की तो उसने उक्त इंजेक्शनो को दिलबाग निवासी सैक्टर-6 पानीपत से खरीद कर लाने बारे बताया था । दिलबाग खन्ना रोड़ पर दवाईयों का होल-सेल का स्टोर चलाता है । आरोपित दिलबाग को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने बताया की वह प्रदीप से उक्त इंजेक्शन खरीद कर लाया था । वही आरोपित प्रदीप को पहले ही जिला पुलिस द्वारा गिरफ्तार पुलिस रिमांड पर लिया हुआ था । प्रदीप सनोली रोड़ स्थित हैदराबादी हस्पताल मे दवाईयो का मेडिकल स्टोर चलाता था । आरोपित प्रदीप से गहनता से पुछताछ की गई तो उसने बताया था की मोहम्मद सहवार निवासी खुडडा जिला मुज्जफर नगर यूपी उसको रेमडेसिविर इंजेक्शनो की सप्लाई देता था ।

सीआईए-थ्री पुलिस टीम ने आरोपित मोहम्मद शहवार को पंजाब की रोपड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाकर माननीय न्यायालय मे पेश कर 7 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया । पुलिस रिमांड के दोरान मोहम्मद शहवार ने बताया की कोविड-19 महामारी के दोरान उसने रेमडिसिवर इंजैक्शनों का बिजनेश करके मोटा मुनाफा कमाने की सोची और अपनी रजिस्टर्ड फर्म Nautvins Pharmacuticalas से हिटरो कंपनी हैदराबाद को मेल द्वारा 2 हजार रूपये रेट पर 30 हजार असली रेमडेसिविर इंजेक्शनों का आर्डर किया । हिटरों कंपनी हैदराबाद ने उसके आर्डर को कैसिल कर दिया । मोहम्मद शहरवार ने रेमडेसिविर इंजैक्शनों की शॉर्टेज को देखते हुये नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन तैयार करने की योजना बनाई और इसी प्रकार की शीशी की साईज मे मिलने वाले एंटीबाइटीक इंजैक्शन Piperacillion with Tazobact के 30 हजार इंजैक्शनों का आर्डर अपनी रजिस्टर्ड फर्म Nautvins Pharmacuticalas से Sunvet Pharma. Pvt. Ltd काला आम्ब को आर्डर किये । वही साथ ही नेट के माध्यम से रेमडीसिविर इंजैक्शन का रेपर व डिब्बी के प्रिट डाऊनलोड कर अपनी रजि0 फर्म की मेल से प्रिंटीग प्रैस मे भेंजकर तैयार करवाए । मोहम्मद शहवार को Sunvet Pharma. Pvt. Ltd कंपनी से 12 हजार एंटीबाइटीक इंजैक्शन Piperacillion with Tazobact मिल गए । उसने इंजैक्शनो को घर लाकर शाम के समय बड़े टब मे डाल दिया । अगले दिन बुआ के लड़के शाह आलम व शहनजर के साथ मिलकर इंजैक्शन Piperacillion with Tazobact का लेबल उतार कर उसकी जगह प्रिट करवाए गए रेमडेसिविर का लेबल चिपका कर रेमडेसिविर के डिब्बे मे पैक कर दिये । मोहम्मद सहवार, शाह आलम व शहनजर ने मिलकर 12 हजार नकली रेमडेसिविर इंजैक्शन तैयार कर इनमे से करीब 10 हजार इंजेक्शनों को हरियाणा, पंजाब, उतराखंड व हिमाचल मे विभिन्न स्थानो पर दवाईयों के होल विक्रेताओं को 5 हजार रूपये प्रति इंजैक्शन के हिसाब से बेचे । आरोपियो ने नकली इंजैक्शनों को बेचकर करीब 5 करोड़ रूपये कमाए । पैसो को देखकर शाह आलम के मन मे लालच आ गया । उसने अपने दोस्त मोहम्मद अरशद वासी साहरनपुर व मोहम्मद अरशद का भाई अखलद उर्फ अली के साथ मिलकर शहनजर को सहारनपुर पुलिस द्वारा पकड़े जाने की बात मोहम्मद शहवार को बताई और कहा की सारे पैसे लेकर आ जाऔ क्योकी शहनजर को नकली इंजैक्शनो के साथ पुलिस ने पकड़ लिया है । इस बात से डरते हुए मोहम्मद शहवार ने सारे पैसे शाह आलम , मोहम्मद अरसद व अखलद उर्फ अली को दे दिये और बचे नकली 2 हजार इंजैक्शनो को भाखड़ा नहर मे फैक दिया ।

पुलिस अधीक्षक शशाक कुमार सावन ने बताया की सीआईए-थ्री पानीपत पुलिस टीम आरोपियों को काबू करने के लिए उनके संभावित ठिकानो पर दंबिस दे रही थी वही आरोपी मोहम्मद शहवार पर 25 हजार रूपये इंनाम जिला पुलिस की तरफ से रखा गया था । परंतु उससे पहले ही तीनों आरोपी मोहम्मद शहवार ,शाह आलम व मोहम्मद अरसद को पंजाब की रोपड़ पुलिस ने काबू कर लिया था । सीआईए-थ्री पानीपत पुलिस टीम ने बिते दिनो तीनो आरोपियों को पंजाब की रोपड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर पुलिस रिमांड के दोरान इनके साथी अखलद उर्फ अली को सहारनपुर से काबु करने के साथ की चोरों आरोपियो से 48 लाख रूपये की नगदी रेमडेसिविर इंजैक्शन के नकली रेपर व डिब्बे बरामद कर आरोपियों को आज माननीय न्यायालय मे पेश कर न्यायिक हिरासत जेल भैजा गया ।

पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन जी ने बताया की नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले मे सीआईए-थ्री पुलिस टीम द्वारा कुल 8 आरोपियों को गिरफतार किया जा चुका है । बाकी बचे आरोपियों को भी जल्द ही काबू कर लिया जाएगा ।