Thursday, September 2nd, 2021

now browsing by day

 
Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

ग्राम सचिवों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर संपन्न

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )।राज्य पंचायत संसाधन केंद्र और हरियाणा ग्रामीण विकास संस्थान, नीलोखेड़ी के दिशा निर्देशन में जिला पंचायत संसाधन केंद्र फरीदाबाद कार्यालय द्वारा जिला के ग्राम सचिवों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पुलकित मल्होत्रा ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने इस ट्रेनिंग को आज के समय की विशेष जरूरत बताया। नीलोखेड़ी से आए राज्य स्तरीय सह संयोजक कमलदीप सांगवान ने ग्राम सचिवों को नई तकनीक सीखने के लिए प्रेरित किया। जिला प्रशिक्षण समन्वयक जलवंत सिंह ने इस दो दिवसीय ट्रेनिंग कोर्स का परिचय देते हुए ग्राम पंचायत विकास योजना, मिशन अंत्योदय, ग्राम मानचित्र, भुवन पोर्टल, जियो टैगिंग के बारे में संक्षिप्त प्रकाश डाला। जिनका विस्तार करते हुए कार्यालय की डीपीएम अनुराधा ने पंचायत समिति की विकास योजना के वास्तविक आंकड़ों की प्राप्ति के लिए पीपीटी के माध्यम से अपने विचार प्रकट किए। जिले के (एचएसआरएलएम) डीपीएम शिवम तिवारी ने मिशन अंत्योदय पर बेहतर प्रस्तुति दी। विशेष रूप से आमंत्रित गुड़गांव के डीपीएम अनिल खोखर ने इस ट्रेनिंग में उपरोक्त विषय पर सभी बिंदुओं को समेट कर अपनी विशिष्ट प्रस्तुति से सभी को प्रभावित किया । मनरेगा विशेषज्ञ एबीपीओ करण यादव ने सभी प्रतिभागियों की जिज्ञासा को अपनी गहन सोच के आधार पर शांत किया। ट्रेनिंग कोर्स पूरा होने पर सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। अंत में मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद पुलकित मल्होत्रा ने 2 अक्टूबर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक चलने वाली जीपीडीपी के कार्य के लिए सभी ग्राम सचिवों को शुभकामनाएं दी।

Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

नीमका जेल में लोक अदालत के दौरान 27 विचाराधीन आरोपियों को रिहा किया : सीजेएम मंगलेश कुमार चौबे

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )। जिला एवं सत्र न्यायाधीश यशवीर सिंह राठौर के दिशा निर्देशानुसार एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद के सचिव न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे सीजेएम के मार्गदर्शन में जिला जेल नीमका में जेल लोक अदालत का आयोजन किया गया जिसमें कुल 53 अपराधिक मुकदमे सुनवाई के लिए रखे गए जिसमें चोरी मारपीट आर्म्स एक्ट जैसे मुकदमे शामिल किए गए जेल लोक अदालत में सुनवाई के दौरान माननीय न्यायाधीश मंगलेश कुमार चौबे सीजेएम ने मौके पर ही कुल 23 मुकदमे निपटा दिए और 27 विचाराधीन आरोपियों को रिहा किया गया और उन्हें माननीय न्यायधीश ने संदेश दिया कि वह गलत व अपराधिक संगति छोड़कर समाज की मुख्यधारा में आए और समाज के लिए काम करें अपने परिवार का ध्यान रखें और जिम्मेदार नागरिक बने इस लोक अदालत के सफल आयोजन में