December, 2021

now browsing by month

 
Posted by: | Posted on: 5 months ago

डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद को मिला स्टीम एजुकेशन एक्सीलेंस अवार्ड


फरीदाबाद (विनोद वैष्णव): डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद को एजुकेशन वल्र्ड ग्रैंड जूरी इंडिया स्कूल रैंकिंग 2021-22 में स्टीम एजुकेशन एक्सीलेंस स्कूल अवार्ड से नवाजा गया है। आपको बता दें कि स्टीम शिक्षा एक नवीन शिक्षण पद्धति है जो छात्रों को किताबी ज्ञान सीखने के बजाय जीवन कौशल विकसित करने पर अधिक ध्यान केंद्रित करने में मदद करती है। जिससे बच्चे का समग्र विकास होता है। स्टीम शिक्षा एक अगले स्तर की शिक्षा सीखने की विधि है जहां शिक्षक विभिन्न प्रोजैक्ट्स पर छात्रों के साथ काम करते हैं और खुले, प्रयोगात्मक और महत्वपूर्ण शिक्षण तकनीकों पर अधिक ध्यान केंद्रित करते हैं। स्टीम शिक्षा विज्ञान  प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, कला और गणित की उत्कृष्ट शिक्षा पद्धति का मिश्रण हैं। ऐसे में डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद ने स्टीम शिक्षा में एक्सीलेंस अवार्ड प्राप्त कर न केवल जिले का बल्कि हरियाणा का नाम भी रोशन किया है। इस मौके पर स्कूल के प्रो. वीसी रोहित जैन ने स्कूल को मिले अवार्ड पर स्कूल की प्रिंसीपल, स्टाफ, बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद अपने विद्यार्थियों को बेहतर व गुणवत्ता परक शिक्षा देने के साथ-साथ उनके संपूर्ण विकास के लिए संकल्पबद्ध है और इस दिशा में स्कूल लगातार काम कर रहा है। समय-समय पर राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न वर्गों में मिलने वाले पुरस्कार इस बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है। रोहित जैन ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए अभिभावकों का भी स्कूल पर विश्वास मजबूत रखने पर आभार जताया। डीपीएस ग्रेटर फररीदाबाद स्कूल की प्रिंसीपल सुरजीत खन्ना ने बताया कि एक बार फिर डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद ने यह अवार्ड प्राप्त कर यह साबित कर दिया है कि वह न केवल विद्यार्थियों को गुणवत्तापरक उत्तम शिक्षा दे रहा है बल्कि अन्य मानकों पर भी खरा उतरते हुए शिक्षा प्रदान कर रहा है। इस उपलब्धि के साथ, डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद दिल्ली-एनसीआर के कुछ स्कूलों में से एक बन गया है, जिसने एक इन-हाउस लर्निंग एंड डेवलपमेंट सेंटर स्थापित किया है जो लगातार शोध करता है और अपने पाठ्यक्रम में नवीन शिक्षाशास्त्र को शामिल करता है। दरअसल, वार्षिक एजुकेशन वल्र्ड ग्रैंड जूरी इंडिया स्कूल रैंकिंग 2016 में शुरू की गई थी तथा इस रैंकिंग में देश के स्कूलों में से उन स्कूलों को चुना जाता है जो निर्धारित मानकों के तहत सर्वश्रेष्ठ व उत्कृष्ट कार्य शिक्षा के क्षेत्र में कर रहे हैं। इसी आधार पर स्कूलों को वार्षिक एजुकेशन वल्र्ड इंडिया स्कूल रैकिंग में रेट और रैंक किया जाता है।
कैप्शन 51: डीपीएस ग्रेटर फरीदाबाद को एजुकेशन वल्र्ड ग्रैंड जूरी इंडिया स्कूल रैंकिंग 2021-22 में स्टीम एजुकेशन एक्सीलेंस स्कूल अवार्ड से नवाजे जाने पर खुशी व्यक्त करते स्कूल के प्रो. वीसी रोहित जैन,  स्कूल की एचएम रितु जैन, संजना महाजन,,सीनियर कॉर्डिनेटर ममता गुप्ता

Posted by: | Posted on: 5 months ago

श्रमिक विहार सेक्टर 30 फरीदाबाद के कार्यालय में “आदित्य चैरिटेबल ट्रस्ट” के सौजन्य से फ्री आंखों की जांच का कैंप आयोजित किया गया

श्रमिक विहार सेक्टर 30 फरीदाबाद के कार्यालय में “आदित्य चैरिटेबल ट्रस्ट” के सौजन्य से फ्री आंखों की जांच का कैंप आयोजित किया गया और आधुनिक मशीनों द्वारा पूरे शरीर की जांच मात्र 1 मिनट में की गई इसमें 82 लोगों ने आंखों की जांच की गई एवं कम लागत मूल्य पर लोगों को चश्मे दिए गए और 54 लोगों ने अपने पूरे शरीर की जांच करवाई एवं कम लागत मूल्य पर लोगों को आयुर्वेदिक दवाइयां दी गई और नि:शुल्क परामर्श भी दिया गया । यहां पर उपस्थित लोगों ने कैंप लगवाने के लिए सराहना की गई ।
आपका अपना
टी एन कपूर
प्रधान श्रमिक विहार सेक्टर 30 फरीदाबाद

Posted by: | Posted on: 5 months ago

Unibox Production presents Iconic Star Gala Awards (ISGA AWARDS)

Unibox Production presents Iconic Star Gala Awards (ISGA AWARDS) is an initiative by Dushyant Sehgal that celebrates the unsung Iconic stars of the different industry.

The Awards took place in Delhi on 26th December 2021 at Arya Auditorium. The guest comprised of Actress Neha Saxena, Actor Karthik Jayaram, Actor Rajeev Nigam, Actor Shivanshu Sharma, Vision Digital India Chairman Dr. Hari Krishna Maram. Industry member who have worked hard throughout the pandemic were nominated into categories like Iconic star of year.

This Awards come with substantial benefits. These awards aim to recognise and acknowledge the initiative and hard work of entrepreneurs and their contribution to the society.

Partners :

Kriti Productions : Associate partner

Ontogeny: Associate Partner

Vision Digital India: Media Partner

Lakme Lajpat Nagar : Makeup Partner

Valeda : Gift Partner

Pushkar Hobby Classes : Education Partner

Anisha Bhutani : Fashion Partner

Winners:

Indian Actress Neha Saxena : Iconic Star Best Female Actor Regional

Indian Actor Karthik Jayaram : Iconic Star Best Male Actor Regional

Indian Actor Rajeev Nigam: Iconic Star Best Comedian Actor Male

Indian Actor Shivanshu Sharma: Iconic best Fresh New Face – Male

Rimmjhim Dubey: Host

Dr. Ashish Kumar :

International Bodybuilder & Powerlifter, Physical Fitness and Health Education Expert

Nominated For Iconin Star of Sports & Physical Fitness Award

Dr. RAJEN BARAIK: Iconin Star of Socialist Labour Award

Dr. Naeem Tirmizi: Iconic Star Student Supportive & Humanitarian Work Award

Suman Taru: Human Right Pledge

Jagwinder Singh (Super Singh) : Iconic The Inspiration Leadership Award

Singer Mitul Kaushik: Iconic Best Singer Performer Male

Poonam Gupta: Iconic Star Best Choreographer Pushkar

Documentary EK Rajput Kisan : Iconic Best Real Story Documentary of Rajasthan

Posted by: | Posted on: 5 months ago

फरीदाबाद में स्थापित करेंगे मदर यूनिट डॉक्टर अजय सिंह चौटाला


फरीदाबाद:
जनता के प्यार से दिन प्रतिदिन मजबूत हो रही है जननायक जनता पार्टी डॉक्टर अजय सिंह चौटाला।

खेलों को हमेशा खेल की भावना से ही खेले खिलाड़ी डा अजय सिंह चौटाला।

जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अजय सिंह चौटाला का रविवार को शहर की आरडब्ल्यूए ने धूमधाम से स्वागत किया। जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अजय सिंह चौटाला जी आज सेक्टर 14 फरीदाबाद में राष्ट्रीय सचिव कृष्ण जाखड़ द्वारा आयोजित प्रोग्राम में आरडब्लूए को संबोधित करते हुए कहा कि शहर में प्रथम बार इतने सम्मानित लोग एकत्रित हुए हैं । 36 बिरादरी के लोग पार्टी में शामिल होकर अपने आपको गौरवान्वित महसूस करते हैं । पार्टी में शामिल होने वाले सभी साथियों को मान सम्मान जननायक जनता पार्टी में दिया जाता है।डॉक्टर अजय सिंह चौटाला ने बताया कि जजपा को बने अभी 3 वर्ष हुए हैं। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत सिंह चौटाला ने अपनी चुनावी घोषणा पत्र में किए वादों को पूरा करने पर अग्रसर है। जन नीतियों से प्रभावित होकर आज प्रदेश में लोग जननायक जनता पार्टी के साथ जुड़ रहे हैं । उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का प्रयास है प्रदेश चहुमुखी विकास में अग्रसर हो।जननायक जनता पार्टी का 9 दिसंबर 2018 को गठन हुआ संगठन को प्रभावित किया और 10 माह बाद चुनाव में 10 एमएलए भी प्रदेश की जनता ने दिए। उन्होंने बताया कि जनता की बदौलत ही आज प्रदेश की सरकार में भागीदारी मिली है लेकिन कोरोना महामारी और किसान आंदोलन के रूप में अबरोधक बन विकास के आगे आए। डॉक्टर अजय सिंह चौटाला ने बताया कि जल्दी ही शहर फरीदाबाद में मदर यूनिट स्थापित करने का काम जननायक जनता पार्टी करेगी। जिला फरीदाबाद फिर से हरियाणा में रेवेन्यू मैं नंबर वन होने का काम करेगा। वहीं विजय प्रताप रूढ़ी ,इकबाल सिंह सिंधु सहित डेढ़ दर्जन से अधिक गणमान्य लोगों ने जननायक जनता पार्टी का दामन थामा।इसके अलावा डॉ अजय सिंह चौटाला जी खेड़ी कला गांव में आयोजित कबड्डी प्रोग्राम में शिरकत की है मौजूद खिलाड़ियों से परिचय लिया । जिलाध्यक्ष तेजपाल डागर ने बताया कि स्थानीय रोजगार में 75% युवाओं को आरक्षण देने का काम और प्रदेश में 33 परसेंट महिलाओं को राशन डिपो में आरक्षण देने और प्रदेश में स्कूल कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को बस में फ्री पास की सुविधा देने का काम उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला जी ने किया है। इस मौके पर जनता पार्टी के शहरी जिलाध्यक्ष अरविंद भारद्वाज, राष्ट्रीय सचिव राजाराम ,राष्ट्रीय सचिव कृष्ण जाखड़, श्याम सिंह श्योराण,गोविंद कौशिक, आशुतोष गर्ग, जिला प्रवक्ता अनिल खुटेला, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य धर्मवीर तेवतिया, युवा जिला अध्यक्ष संदीप कपासिया ,नलिन हुडा, बेगराज नागर, ललित बंसल,गुलाब सिंह दहिया,निर्मल कुलश्रेष्ठ,किशन चंद चौहान ,हलका अध्यक्ष दीपक चौधरी, हाजी करामत अली, जितेंद्र चौधरी, अमर नरवत, प्रेम सिंह धनकड़,अजय चौधरी, अजय बढ़ाना, रिचपाल लांबा, राकेश गर्ग, हाजी अख्तर हुसैन, हनुमान खींची, अलकेश लांबा,हरमीत कौर, नेपाल कुटेला, सुनील डिंडे, सचिन कौशिक, रविंद्र पाराशर,कृष्ण कपासिया, गजेंद्र बढ़ाना , प्रवीणत्यागी ,श्रीपाल तेवतिया, मनीष चौधरी, अजय मित्तल ,हरदत्त जांगड़ा, मनोज गोयल, डॉ दिनेश डागर, सूरत चौहान, बल्ली ठाकुर,रवि शर्मा सहित शहर की अनेक आरडब्लूए एवं इंडस्ट्रलिस्ट एसोसिएशन व संगठनों के पदाधिकारी और कश्मीरी संगठन, गडवाल संगठन ,सैनी समाज के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

जेनिथ हॉस्पिटल में “अटल बिहारी वाजपेई ” की जयंती पर” ब्लड डोनेशन कैंप आयोजित

• 50 यूनिट ब्लड डोनेशन कैंप द्वारा अर्जित हुआ

बल्लभगढ़ (विनोद वैष्णव)। मोहना रोड पर स्थित जैनिथ हॉस्पिटल
में तीसरा ब्लड डोनेशन कैंप आयोजित किया गया, जिसमें रक्तदाताओं के माध्यम से 50 यूनिट ब्लड एकत्र हुआ। यह ब्लड संत भगत सिंह महाराज हॉस्पिटल के ब्लड बैंक को दिया गया।

जैसा कि जेनिथ हॉस्पिटल अपने सामाजिक सरोकारों को निभाते हुए सामाजिक क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाता रहता है चाहे पर्यावरण संरक्षण हो या ब्लड डोनेशन , इसी कड़ी में आज जेनिथ हॉस्पिटल में अटल बिहारी वाजपेई जी” की जयंती ( 24 दिसंबर ) को ब्लड डोनेशन कैंप आयोजित किया गया ।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा के बड़े भाई टिपर चंद शर्मा ने शिरकत की , वहीं विशिष्ट अतिथि के तौर पर जिला आई एम ए ( फरीदाबाद ) की अध्यक्षा डॉ पुनीता हसीजा रहीं।

वरिष्ठ भाजपा नेता टिपर चंद शर्मा ने इसअवसरपर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि अटल बिहारी वाजपेई जी जैसी महान शक्सियत की जयंती पर रक्तदान शिविर आयोजित करना जेनिथ हॉस्पिटल द्वारा एक महान काम है उन्होंने रक्तदाताओं का भी हौसला बढ़ाया।

इस अवसर पर विषेश रूप से जेनिथ हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ जी के शर्मा , डॉ प्रियंका शर्मा ( डायरेक्टर ) , श्री आर सी शर्मा , राजेश कश्यप , (निदेशक ), समाजिक कार्यकर्ता पारस जैन, सामाजिक कार्यकर्ता बुद्धा सैनी, समाजसेवी राकेश गुज्जर, जसप्रीत कौर ( एच आर प्रमुख ) , मार्केटिंग टीम से अशोक कुमार, सतीश गर्ग , दीपक कुमार ,
विषेश रूप से उपस्थित रहे।

डॉ जी के शर्मा एवं डॉ प्रियंका शर्मा ने सभी आए हुए अतिथियों, ब्लड डोनर्स, और पत्रकारों का अभार व्यक्त किया और कहा कि वे सामाजिक कार्यों को जारी रखेंगे।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

बीएमडी कान्वेंट स्कूल सरूरपुर में क्रिसमिस दिवस के उपलक्ष में कार्यक्रम का आयोजन किया गया

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव) : बीएमडी कान्वेंट स्कूल सरूरपुर में क्रिसमिस दिवस के उपलक्ष में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विद्यालय के विद्यार्थियों ने संता बनकर तथा सांस्कृतिक गतिविधियां प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम में मंच संचालन सातवीं कक्षा की प्रियांशी तथा नौवीं कक्षा की खुशी ने किया।

शैली शर्मा , रजनी कालरा , तारकेश्वर प्रसाद ने सभी बच्चों को क्रिसमिस की बधाई दी। कार्यक्रम के दौरान निशा ,पायल ,प्रियांशी ,प्रिया ने संप्रदाय सद्भाव के ऊपर एक लघु नाटिका प्रस्तुत की तथा निशा ,काजल ,वर्षा ,अनम ,यशवी ,पायल ,तनीषा ,पलक और दीपिका ने सुंदर नृत्य की प्रस्तुति दी।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

के॰एल॰ महता दयानंद पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल नंबर 1, नेहरू ग्राउंड, फरीदाबाद में क्रिसमस का पर्व बड़े हर्षोउल्लास से मनाया गया

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )| के॰एल॰महता दयानंद पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल नंबर 1,नेहरू ग्राउंड, फरीदाबाद में क्रिसमस का पर्व बड़े हर्षोउल्लास से मनाया गया l विद्यालय में छोटे-छोटे बच्चों ने सांताक्लाज बनकर संस्थान के अध्यक्ष श्री आनंद महता जी का बड़ी उमंग से स्वागत किया l विद्यालय की प्रधानाचार्या डॉ गीता यादव जी के निर्देशन और शिक्षिकाओं के मार्गदर्शन में बच्चो ने क्रिसमस एक्टिविटी का सकुशल आयोजन किया l

Posted by: | Posted on: 5 months ago

बल्लभगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष चंद्र सेन शर्मा के नेतृत्व में दिनांक 20 -12 -2021 वह 21-12 -2021 को 2 दिन का चंडीगढ़ का दौरा किया गया

‘बल्लभगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन’

   सभी स्कूल संचालक प्रणाम-- साथियों आपको अवगत कराया जाता है कि बल्लभगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष चंद्र सेन शर्मा के नेतृत्व में दिनांक 20 -12 -2021 वह 21-12 -2021 को 2 दिन का चंडीगढ़ का दौरा किया गया जिसमें प्रमुख रूप से उनके साथ महामंत्री सतीश शर्मा ,भरत शर्मा, रमेश पाल ,राजकुमार लोहिया और टीकाराम  प्रमुख रूप से सहयोगी रहे । साथियों इस समय पूरे प्रदेश में 1 साल की एक्सटेंशन का जो मुद्दा मुसीबत बना हुआ है उसी पर विभिन्न विधायक और मंत्रियों से  मांग करने के लिए और समस्या को तुरंत हल कराने के लिए ही यह चंडीगढ़ पहुंचा था जहां सर्वप्रथम  एनआईटी के विधायक श्री नीरज शर्मा जी से एमएलए हॉस्टल में मुलाकात हुई और नीरज शर्मा जी ने हमारी पीड़ा और समस्या को समझा और तुरंत अपने फोन से स्पीकर खोलकर शिक्षा मंत्री जी से बात की और शिक्षा मंत्री जी से बात करने पर उन्होंने तुरंत 1 साल को एक्सटेंशन को बढ़ाने के लिए विधायक को आश्वासन दिया हमें वहां पहुंचकर विधायक ने जो सहयोग और साथ दिया  उस पर हम नीरज शर्मा जी का शुक्रिया करते हैं,  उसके बाद हमारा प्रतिनिधिमंडल तिगांव के विधायक राजेश नागर जी  से फ्लैट पर मिला और विधायक जी ने अगले दिन सुबह 9:15 बजे हमारी मीटिंग शिक्षा मंत्री जी से उनके निवास पर कराई और 1 साल के एक्सटेंशन को शीघ्र बढ़ाने की जोरदार सिफारिश की और इस अवसर पर मैंने स्वयं अपने पिछले ज्ञापन को मंत्री जी को याद दिलाया और कहा कि मंत्री जी पूरे हरियाणा प्रदेश के सभी अस्थाई और परमिशन वाले स्कूल आपके तरफ देख रहे हैं तो उस पर जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि एक-दो दिन में आपकी एक्सटेंशन कर दी जाएगी हमें पूरा विश्वास है उसके बाद दिनांक 19 को फरीदाबाद के सभी संचालकों के माध्यम से कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा जी को जो ज्ञापन सौंपा गया था उस पर रात्रि में हमारी मंत्री जी से बात हुई और मंत्री जी ने आपकी ताकत का ज्ञापन शिक्षा मंत्री जी को सौंप दिया और मंत्री जी ने पूरा भरोसा दिया की एक-दो दिन में आपका लेटर जारी करा दिया जाएगा हमें पूरी तसल्ली हुई फिर भी हमने अपना प्रयास आगे जारी रहा । अगले दिन 21 तारीख को भारी प्रयास के बाद हरियाणा के गवर्नर श्रीमान बंडारू दत्तात्रेय से समय लिया गया और हम राजभवन पहुंचे और वहां हमने राज्यपाल जी का बुके भेंट कर स्वागत किया और पूरे प्रदेश की जो स्कूलों की समस्या थी उसका ज्ञापन राज्यपाल जी को दिया माननीय राज्यपाल जी ने हमारी बात को ध्यान से सुना और पूरे प्रदेश के लाखों बच्चों और हजारों शिक्षकों के हितों को देखते हुए तुरंत उस पर जोरदार शिफारस की और अपने सेक्रेटरी जोकि पूर्व में अतुल कुमार जी फरीदाबाद के डीसी  रह चुके हैं उनको कहा कि अभी तुरंत मोस्ट अर्जेंट में सीएम मनोहर लाल खट्टर और शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर के लिए मेरे अर्थात राज्यपाल के लेटर पर तुरंत सरकार को इस समस्या को हल करने के लिए पत्र बनाया जाए  और उन्होंने हमारे ही सामने   पत्र बनाकर के मुख्यमंत्री और शिक्षा शिक्षा मंत्री को भेज दिया और राज्यपाल जी ने हमें पूरा भरोसा देकर कहा की बच्चों का और शिक्षकों का हम किसी भी रूप में अहित नहीं होने देंगे ।  मैं फरीदाबाद और प्रदेश के सभी शिक्षक स्कूल संचालकों की तरफ से सभी विधायकों का मंत्री जी का और विशेष रूप से राज्यपाल जी का आभार व्यक्त करता हूं और ऐसी मुसीबत में सभी ने हमारा साथ दिया उनका धन्यवाद करता हूं 


                    चन्द्र सैन शर्मा
                             अध्यक्ष
                 9810941120
Posted by: | Posted on: 5 months ago

शादी की उम्र 21 साल होने से लड़कियों के चेहरों पर खिली मुस्कान , तो वही कंपनी के संचालक एवं चाय विक्रेता ने दी अपनी राय

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव) : जब हमने एक कंपनी के संचालक से बात करी तो उनका कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कानून से वह संतुष्ट नहीं है। लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल ही सही है और इसमें किसी भी प्रकार का कोई बदलाव नहीं होना चाहिए। उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा की सरकार को उम्र के मुद्दे से ज्यादा ये सोचना चाहिए कि कैसे बढ़ते क्राइम को रोका जाए। वैसे ही देखा जाए हो बालात्कार जैसे मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे है और ऐसे में जब लड़कियों की शादी की उम्र बड़ा दी जाएगी तो बलात्कार जैसे मामले बढ़ने लगेंगे।

वही जब चाय विक्रेता से बात की गयी तो उन्होंने केंद्र सरकार की सोच की तारीफ की और कहा की लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने का जो फैसला लिया जा रहा है ये बिल्कुल ठीक है और 21 साल में लड़कियों की ग्रेजुएशन भी हो जाती है और वह शारीरिक और मानसिक तोर से मजबूत होती है उनका कहना है की लड़कियों की शादी 25 उम्र में करनी चाहिए और में अपनी खुद की बेटी की शादी में कोई जल्दबाजी नहीं करुगा और इसके साथ ही उन्होंने कहा की ये लड़कियों के लिए काफी अच्छा है क्युकी वो अपने भविष्य के बारे में और सोच पाएगी।
दोनो ने अपनी बात रखी और बताया की क्या केंद्र सरकार का फैसला सही है या नहीं। वही इससे दोनों की सोच का भी पता चलता है की एक कंपनी के संचालक और एक चाय विक्रेता की सोच में कितना अन्तर है।

लड़का-लड़की बराबर हैं तो ऐसा क्यों कि लड़के 21 साल की उम्र में शादी के लिए तैयार होते हैं और लड़कियां महज़ 18 साल की उम्र में शादी की ज़िम्मेदारी उठाने को तैयार हो जाती हैं. लड़कियों का शरीर 18 की उम्र में मां बनने के लिए तैयार हो जाता है. तो क्या वो मानसिक रूप से भी मां बनने को तैयार है, क्या वो बच्चे की इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी 18 साल की उम्र में उठा सकती हैं. ऐसे बहुत से सवाल तैरते रहते हैं. हमारे आपके और उन लड़कियों के ज़हन में जिनकी शादी 18 साल या उससे कम उम्र में हो जाती है. कानूनी रूप से लड़का लड़की 18 साल में बालिग होते हैं, वो वोट दे सकते हैं, गाड़ी चला सकते हैं, हथियार के लाइसेंस बनवा सकते हैं, लेकिन शादी की उम्र आते ही दोनों की उम्र में तीन साल का फर्क था. अब सरकार यही फर्क ख़त्म करने जा रही है.

लड़कियों के चेहरे पर ख़ुशी है, या यूं कहें कि वो राहत की सांस ले रही हैं, क्योंकि उन्हें अपनी कुछ और वक्‍त मिल रहा है. अपनी ज़िंदगी में रंग भरने के लिए. बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और बेटा-बेटी एक समान के नारे को सार्थक करने के लिए केंद्र सरकार अब लड़कियों की शादी की कानूनी उम्र 21 साल करने जा रही है. इस प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंज़ूरी दे दी है. इसके लिए सरकार मौजूदा कानूनो में संशोधन करेगी. देश में पहले के कानून के मुताबिक अभी लड़कों की शादी की न्यूनतम उम्र 21 और लड़कियों की उम्र 18 साल है. नए प्रस्ताव के मंज़ूर होने के बाद अब सरकार बाल विवाह निषेध कानून, स्पेशल मैरिज एक्ट और हिंदू मैरिज एक्ट में संसोधन करेगी.

केंद्र सरकार के इस फ़ैसले का स्वागत हो रहा है. लड़कियां राहत की सांस ले रही हैं. हालांकि, खाप पंचायतों जैसे समाज के ठेकेदारों ने इसका विरोध भी शुरु कर दिया है. हम लड़कियों की बात करें तो वो खुश हैं, क्योंकि वो मानती हैं कि 18 साल की उम्र में वो भले ही शारीरिक रूप से शादी के लिए तैयार हों, लेकिन मानसिक रूप से वो इसके लिए तैयार नहीं होती हैं. 18 साल की उम्र में वो सिर्फ़ 12 तक पढ़ाई कर पाती हैं. मिडिल क्लास या ग्रामीण इलाकों में लड़कियों की शादी जल्दी करने का रिवाज है ऐसे में नया कानून मील का पत्थर साबित होगा. हालांकि लड़की की शादी की उम्र 18 साल होने के बावजूद देश में बड़ी संख्या में बाल विवाह होते हैं.

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे -5(एनएफ़एचएस) के ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि पश्चिम बंगाल में (41.6 फ़ीसद), बिहार (40.8 फ़ीसद ) और त्रिपुरा(40.1 फ़ीसद ) ऐसे राज्य हैं जहां बाल विवाह के मामले ज्यादा देखे गए हैं. इस सर्वेक्षण में शामिल 20 से 24 वर्ष की महिलाओं में से अधिकतर का विवाह 18 वर्ष की उम्र से पहले हो गया था. लड़कियों की शादी की न्यूनतम उम्र बढ़ाई जाए इसे सरकार की तरफ़ से लड़कियों के साथ भेदभाव और उनके विकास के लिए सकारात्मक पहल बताया जा रहा है। बाल विवाह रोकने के लिए सबसे ज़रूरी है सामाजिक जागरुकता. कानून की सख्ती बाल विवाह जैसे कुरीति को कम तो कर सकती है लेकिन जड़ से ख़त्म नहीं कर सकती है.

शादी के लिए लड़के-लड़की की उम्र में फर्क़ पुरुष प्रधान सोच को दर्शाता है, जिसे बदलने की ज़रूरत थी. लड़का जहां 21 साल की उम्र में परिवक्व होता है, उसकी पढ़ाई 21 साल में पूरी होती है, यानि कि वो कम से कम ग्रेजुएट तो हो ही जाता है. लेकिन, लड़कियों की पढ़ाई उनकी मैच्योरिटी मायने नहीं रखती है. अब ये फ़र्क खत्म हो रहा है, जिससे लड़कियों के चेहरे पर मुस्कान है, वो सरकार के इस फ़ैसले का स्वागत कर रही हैं. क्योंकि अब उनके पास भी अपनी पढ़ाई पूरा करने का वक्‍त होगा, वो भी अपने बारे में सोच सकेंगी. सिर्फ़ शादी हो जाने से लड़की की ज़िंदगी का मक़सद पूरा नहीं हो जाता है, बल्कि उसके पास अपनी कैरियर बनाने, उसके बारे में सोचने के लिए थोड़ी मोहलत मिल जाएगी.

लड़की की शादी की उम्र 18 साल होने की वजह से ज़्यादातर लड़कियां सिर्फ़ अपनी 12वीं तक की पढ़ाई पूरी कर पाती हैं, मां बाप भी इस बात का इंतज़ार करते हैं कि 18 साल हों और शादी करके ज़िम्मेदारी से मुक्ति पा लें. शहरों में तो फिर भी हालात कुछ बेहतर हैं, लेकिन बात करें गांवों की तो वहां जेंडर की बात बेमानी हो जाती है. लड़कियों के बारे में सोचा ही नहीं जाता है, लड़कियों के माता पिता कम से कम उम्र में बेटी की शादी कर देना चाहते हैं. लड़कियों की शादी की उम्र भले 21 साल की जा रही है, लेकिन बदलाव सामाजिक चेतना से आना है.

लड़कियों के लिए मुश्किलें उसी घर में कम होती हैं जिनके माता-पिता उन्हें आगे बढ़ने देने में साथ देते हैं, वो जो अपनी बेटियों को बोझ नहीं समझते हैं. शादी को लेकर सरकार जो उम्र में भेदभाव है उसे ख़त्म करने जा रही है जो एक बड़ा बदलाव है. इससे लड़का-लडकी के भेद का एक अंतर ख़त्म होगा. जल्दी उम्र में शादी करने से लड़कियों को अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़नी पड़ जाती है, वो सिर्फ़ 12 तक ही पढ़ सकती हैं, वो शारीरिक रूप भले तैयार हो लेकिन मानसिक रुप से शादी और बच्चे की ज़िम्मेदारी उठाने के काबिल नहीं होती हैं. स्त्री रोग विशेषज्ञ भी मानते हैं कि महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सरकार का ये क़दम बेहद ज़रूरी है.

लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल की जा रही है, इसका स्वागत किया जाना चाहिए. लेकिन, सरकार और समाज का सबसे ज़्यादा ज़ोर लड़कियों की पढ़ाई और उनके बेहतर भविष्य की ओर होना चाहिए. लड़कियों की ज़िंदगी का एक मक़सद शादी ना बनाकर रख दिया जाए. उम्र 18 हो या 21 शादी से ज़रूरी है कि लड़कियां अपनी पढ़ाई पूरी करें, उनका बेहतर भविष्य हो. बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ के नारे को सार्थक करने के लिए सामाजिक चेतना की ज़रूरत है. और सरकार का ये क़दम मील का पत्थर साबित होगा.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News21TV किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)
नोट : सभी जानकारिया सोशल मीडिया द्वारा ली गयी है।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

टी एम पब्लिक स्कूल सेक्टर 56 में कराटे बेल्ट टेस्ट चैंपियनशिप का हुआ आयोजन

सो तो कान कराटे ट्रेनिंग सेंटर द्वारा टी. एम पब्लिक स्कूल समय पुर रोड सेक्टर 56 में कराटे बेल्ट टेस्ट प्रमोशन अवार्ड चैंपियनशिप का आयोजन कराया गया जिसमें जिले के नामचीन स्कूलों के लगभग शो 100 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया ,मुख्य तकनीकी निदेशक इंटरनेशनल रेफरी कराटे मास्टर गंगेश तिवारी ने बताया कि खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन के आधार पर विभिन्न रंग के बेल्ट पर कब्जा जमाया खिलाड़ियों का टेस्ट कराटे मास्टर गंगेश तिवारी मेव अकैडमी मादलपुर के निर्देशक फिशान खान मास्टर सूरज सकते मास्टर संदीप पांचाल मास्टर मुकेश यादव महिला कोच गीता गिरी ने लिया , टेस्ट के दौरान खिलाड़ियों को आत्म सुरक्षा के गुण सिखाए गए गंगेश तिवारी ने कहा कि हर खिलाड़ी को मार्शल आर्ट का नियमित रूप से अभ्यास करना चाहिए ताकि वर्तमान परिस्थितियों में वह स्वयं की रक्षा कर सकें चैंपियनशिप में मुख्य अतिथि के रूप में बीजेपी नेता मुकेश डागर, नियामत अली, साहिल वर्मा मुख्य रूप से मौजूद थे व विजेता खिलाड़ियों की उज्जवल भविष्य की कामना की