दिल्ली एनसीआर

now browsing by category

 
Posted by: | Posted on: 2 days ago

यूनिवर्सल अस्पताल फरीदाबाद ने ईसीएमओ मशीन द्वारा सांस की तकलीफ का सफल इजाज कर बचाई महिला की जान

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )। यूनिवर्सल अस्पताल में सांस की गंभीर तकलीफ को लेकर आई एक बुजुर्ग महिला का ईसीएमओ मशीन द्वारा सात दिन में सफल इलाज कर उसकी जान बचाई गई। अब वे पूरी तरह स्वस्थ हो गई हैं तथा एक-दो दिन के बाद घर जा सकेंगी।
अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञ डा. शैलेश जैन ने बताया कि सविता कुमारी जिनकी उम्र 76 साल है, पलवल के पास बामनीखेड़ा की रहने वाली हैं। वे सांस लेने में हो रही तकलीफ के चलते यूनिवर्सल अस्पताल आई थीं। यूनिर्वसल अस्पताल में आने से पहले इन्होंने किसी दूसरे अस्पताल में चैकअप कराया था जहां उनका कोराना संक्रमण का टेस्ट कराया गया था जो नेगेटिव आया था लेकिन इनको वहां इलाज के बाद भी सांस लेने में आराम नहीं मिला तो वे यूनिर्वसल अस्पताल में आईं। यूनिवर्सल अस्पताल में इनका सीटी स्कैन व अन्य जांचें की गईं तथा कोरोना संक्रमण की भी फिर से जांच कराई तो वे कोरोना पॉजीटीव पाई गईं। जब ये यहां पहुंची तो इनका ऑक्सीजन लेवल 85 से 90 के बीच था, जो और घटकर 70 के आसपास आ गया। इस दौरान इनको एनआईवी के द्वारा सांस दी गईं तथा ऑक्सीजन लेबल बेहतर नहीं होने पर तय किया गया कि इनको वेंटीलेटर पर लिया जाए। वेंटीलेटर पर लेने से पहले इनके साथ आए परिजन से गहन विचार-विमर्श किया और विचार-विमर्श के बाद अस्पताल के डॉक्टर शैलेश जैन व डा. पारितोष मिश्रा ने उनको बताया कि इनका ईसीएमओ डिवाइस – एक्स्ट्रा-कॉरपोरियल मैम्ब्रेन ऑक्सीजेनेयसन यानि कि ईसीएमओ डिवाइस लाइफ सपोर्ट सिस्टम कहलाता है, के जरिये इलाज संभव है। उनकी सहमति के बाद उनका इस मशीन द्वारा दलाज शुरू किया गया। यह मशीन शरीर को उस वक्त ऑक्सीजन सप्लाई करता है, जब मरीज के फेफड़े या दिल काम नहीं कर पाते हैं। जब मरीज को प्राकृतिक तरीके से सांस लेने में परेशानी हो रही हो, तब ईसीएमओ डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है। कृत्रिम लंग मशीन पर रखने पर इनका ऑक्सीजन लेवल 95 तक आ गया और जैसे-जैसे इनका ऑक्सीजन लेवल बढ़ता गया उसके बाद धीरे-धीरे इकमो मशीन को बंद कर दिया गया।
डा. जैन ने बताया कि ईसीएमओ का इस्तेमाल तह किया जाता है जह मरीज को सांस लेने में परेशानी हो। यह मशीन नसों में बह रहे खून के जरिये काम करती है। इसमें शरीर के किसी एक नस से खून निकालकर उसे मशीन से जोड़ दिया जाता है जिससे कि बायपास तरीके से खून पूरे शरीर में प्रवाहित होता है। यह मशीन खून को हार्ट और लंग से भी बायपास करने देती है। जब पेशंट को ईसीएमओ से कनेक्ट किया जाता है, तह ट्यूबिंग के जरिये खून का प्रवाह लंग में होता है, जिससे यह मशीन खून में ऑक्सीजन जोड़ती है और कार्बन डाइऑक्साइड को हटा देती है। ऐसा करने से बॉडी टेम्प्रेचर के हिसाब से खून गर्म होता है और शरीर में वापस पंप किया जाता है। ईसीएमओ मशीन उन मरीजों की जान बचाने के काम आती है जिन्हें वेंटिलेटर से भी राहत नहीं मिलती है।


डा. जैन ने बताया कि ईसीएमओ के जरिये दिल के हाई रिस्क मरीजों के सफल ऑपरेशन की संभावनाएं होती हैं। हार्ट अटैक होने की वजह से दिल की मांसपेशियां खराब हो जाती हैं। सर्जरी के बाद भी खतरा बना रहता है। उन्होंने बताया कि सही तरह से पंपिंग न होने से फेफड़ों में खून नहीं पहुंचता है, जिससे फेफड़े काम करना बंद कर देते हैं। ऐसे में ईसीएमओ मशीन की मदद से फेफड़ों में ऑक्सीजन पहुंचाया जाता है, जिससे कि मरीज की हालत में सुधार होता है। डा. जैन ने बताया कि ईसीओमओ के जरिये 70 फीसदी हाई रिस्क मरीजों की जिंदगी बचाया जा सकता है। इस मशीन को चलाने के लिए ट्रेंड स्टाफ की जरूरत होती है। इस मशीन की कीमत करीब 30 से 35 लाख रुपए है। आपरेशन करने वाली टीम में डा. शैलेश जैन, डा. पारितोष मिश्रा, डा. राहुल चंदीला व डा. पवन शामिल रहे। इस सफल आपरेशन के लिए अस्पताल की मेडिकल डायरेक्टर डा. नीति अग्रवाल ने आपरेशन टीम को बधाई दी।

Posted by: | Posted on: 4 days ago

अनुपम पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल होडल ने 10वी के रिजल्ट में इतिहास रचा

अनुपम पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल होडल ने 10वी के रिजल्ट में इतिहास रचा

Posted by: | Posted on: 5 days ago

NVN School भिडूकी ने फैसला किया है कि CORONA की वजह से किसी छात्र की माता या पिता की दुर्भाग्यपूर्ण म्रत्यु हुई हो तो ऐसी स्थिति में अगले 3 वर्ष तक बच्चे की Tution fees 100% माफ कर दी जाएगी

NVN School ने फैसला किया है कि CORONA की वजह से किसी छात्र की माता या पिता की दुर्भाग्यपूर्ण म्रत्यु हुई हो तो ऐसी स्थिति में अगले 3 वर्ष तक बच्चे की Tution fees 100% माफ कर दी जाएगी

3 वर्ष के बाद बच्चे के परिवार की आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए आगे फीस माफी पर विचार किया जाएगा।

स्कूल प्रिंसिपल कुसुम चौधरी ने बताया कि इस समय NVN School में लगभग 50 बच्चो की आर्थिक अथवा सामाजिक आधार पर कई तरह की रियायतें दी जा रही है।

CORONA संकट की वज़ह से बजट स्कूलों को बड़े आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद NVN स्कूल का हर संभव प्रयास है कि यथासंभव, जरूरतमंद बच्चो को मदद की जाए।

#StudentFeesConcession

Posted by: | Posted on: 6 days ago

गुरुनानक हॉस्पिटल पलवल

गुरुनानक हॉस्पिटल पलवल

Posted by: | Posted on: 1 week ago

एडवोकेट राजेश खटाना पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के कॉपरेटिव सदस्य नियुक्त


फरीदाबाद : पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के चेयरमैन मनिंदर जीत यादव ने लॉ भवन चंडीगढ़ में एडवोकेट राजेश खटाना पंजाब एंड हरियाणा बार काउंसिल के कॉपरेटिव सदस्य नियुक्त किया गया। इस नियुक्ति पर राजेश खटाना ने बार काउंसिल के सभी सदस्यों व एडवोकेट सलीम अहमद का आभार जताया। इस अवसर परएडवोकेट राजेश खटाना ने कहाकि आज मै जिस भी स्थान पर हु इस नियुक्ति का सारा श्रेय साथी वकीलों को जाता है।उन्होंने कहाकि उन्हें जो पद सौंपा गया है वह उसे पूरी जिम्मेवारी सौंपी गई है उसे बखूबी निभाएंगे। जैसा भी कार्य बार काउंसिल सौंपेगी वह उसे ईमानदारी के साथ पूरा करेंगे।बार काउंसिल के सभी कल्याणकारी योजनाओं को सभी वकीलों तक पहुंचने का काम करेंगे तांकि सभी वकीलों को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके     बता दे राजेश खटाना एडवोकेट के साथ-साथ वह राजनीति में भी अपना समय लगते है। वह कॉलेज में पढ़ाई के दौरान एनएसयूआई फरीदाबाद के जिलाध्यक्ष,लीगल विभाग हरियाणा युवा कांग्रेस के इंचार्ज,सदस्य चाइल्ड लेबर वेलफेयर बोर्ड रोजगार श्रम मत्रालय भारत सरकार ,सदस्य टेलीफोन अडवाइजरी कमेटी भारत सरकार,ग्रीवेंस कमेटी हरियाणा सरकार के सदस्य रहे चुके हैं और वर्तमान में हरियाणा में युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव के पद है। और उन्होंने बिजली बोर्ड नगर निगम हुड्डा पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के पेनल पर काम किया हुआ है। साथ ही वह जिला अदालत में वकालत के साथ गरीब लोगो की मदद के लिए तैयार रहते है। इस मौके एडवोकेटब्रह्म प्रकाश,एडवोकेट रोहित बोकन,धर्मवीर खटाना मौजूद थे।

Posted by: | Posted on: 2 weeks ago

अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा (एबीवीजीएम) के द्वारा गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती जिला कार्यालय फ़रीदाबाद में मनाई गई

अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा (एबीवीजीएम) के द्वारा गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती जिला कार्यालय फ़रीदाबाद में मनाई गई l इस अवसर पर सोशल डिस्टैन्सिंग का ध्यान रखते हुए गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित करके पुष्प अर्पित किये गए l इस अवसर पर पूर्व विधायक अतर सिंह भड़ाना ने बताया कि गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान गुर्जर समाज के सम्राट थे इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं l पृथ्वीराजविजयमहाकाव्यं संस्कृत महाकाव्य है। इसे हिन्दी में पृथ्वीराज विजय महाकाव्य भी कहा जाता है । पृथ्वीराज विजय महाकाव्य में तराइन के प्रथम युद्ध में पृथ्वीराज चौहान की मुहम्मद गौरी पर विजय का वर्णन है। इसमें तराइन के द्वितीय युद्ध का उल्लेख नहीं है। इसकी रचना लगभग 1191-92 में पंडित जयानक नामक कश्मीरी कवि ने की जोकि गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज का राज कवि था । गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान का जन्म जेष्ठ मास कृष्ण पक्ष द्वादशी विक्रमी संवत 1206 (1149 ईसवी) में हुआ था। इसका वर्णन पृथ्वीराज विजय महाकाव्य के सर्ग 7 के श्लोक नंबर 50 में मिलता है। पृथ्वीराज विजय महाकाव्य के सर्ग 10 के श्लोक नंबर 50 में पृथ्वीराज के किले को गुर्जर दुर्ग लिखा है और सर्ग 11 के श्लोक नंबर 7 और 9 में गुर्जरो द्वारा गौरी को पराजित करने का वर्णन है l पृथ्वीराज रासो भाग 1 के आदि पर्व के छंद 613 में पृथ्वीराज चौहान के पिता सोमेश्वर को गुर्जर लिखा है । गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौहान की मृत्यु तराइन के दूसरे युद्ध में 1249 विक्रमी संवत ( 1192-93 ईसवी ) में हुई थी । तराइन युद्ध क्षेत्र भारत के वर्तमान राज्य हरियाणा के करनाल जिले में करनाल और थानेश्वर (कुरुक्षेत्र) के बीच था, जो दिल्ली से 113 किमी उत्तर में स्थित है। इस अवसर पर संगठन मंत्री महेश फागना,जिलाअध्यक्ष महेश लोहोमोड, उपधक्ष देविंदर मावी, पूर्व मेयर अतर सिंह ,मामचंद भड़ाना महेरचन्द हर्षना ,धीरज फागना ,गजेंद्र भड़ाना तुषार फागना ,सुभाष पाँवर आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहें

Posted by: | Posted on: 2 weeks ago

AMIGOS TRUST OF INDIA ने अपना स्थापना दिवस बनाया

आज AMIGOS TRUST OF INDIA का पहला स्थापना दिवस बनाया। जिसमे AMIGOS TRUST OF INDIA के कार्यकर्ताओं फरीदाबाद गुरुग्राम रोड पर मौजूद जानवरो को केले खिलाये। सभी कार्यकर्ताओं ने सुबह सुबह ही अमिगोस कार्यलय पर इक्कठे होने के पश्चात अमिगोस के अध्यक्ष श्री सुधीर यादव जी ने कार्यकर्ताओं को दो टीमों में बांट। जिसमे एक टीम को मोहताबाद व एक टीम को गुरुग्राम फरीदाबाद रोड पर भेजा। दोनों टीमों ने मिलकर वह मौजूद बेजुबान जानवरो को केले बांटे।

अमिगोस ट्रस्ट के अध्यक्ष व संस्थापक श्री सुधीर यादव जी ने बताया की गत वर्ष 3 जून को ही AMIGOS TRUST OF INDIA की गई जिसका उद्देश्य गरीबो लोगो की भलाई व गरीबो बच्चो की पढाई के लिए किया गया था। अभी तक कार्यो से हम सभी अपने लक्ष्य की तरफ लगातार बढ़ रहे है और इसी गति से चलते हुए हम जल्दी ही एक अच्छा मुकाम हासिल कर अपने लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे।
हम सभी ने COVID-19 की दूसरी लहर में जिस प्रकार अपने आस पास के लोगों की मदद की है वह सराहनीये है और हम इसी तरह लोगो की मदद करते हुए अपनी AMIGOS TRUST OF INDIA को आगे लेकर जाना है जहां पर सभी जरुरतमंदो की हम मदद कर सके और उन्हें कभी अकेला न महसूस होने दे।
इस मोके श्री सुधीर यादव जी के साथ भाई नीरज प्रेमी, नवीन तोमर, अमित चौधरी, अजय पांडेय, साहिल कनोजिया, अभिषेक कुमार, सहित सभी कार्यकर्त्ता मौजूद रहे

Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

जितेंद्र बंसल द्वारा कोरोना नाशक गतिमान महायज्ञ आयोजन किया गया

आज वार्ड नंबर 38 से समाजसेवी जितेंद्र बंसल द्वारा वातावरण की शुद्धि वह असमय मृत्यु से प्राप्त आत्माओं की शांति के लिए सिद्धि करण हेतु कोरोना नाशक गतिमान यज्ञ राष्ट्र मंगल कामना की उद्देश्य से यज्ञ किया गया। इस यज्ञ का उद्देश्य है कि वायुमंडल में फैले वायरस को गो धृत वह अन्य सामग्री व मंत्रों से उत्पन्न ऊर्जा से वायरस को खत्म करना है। पर्यावरण वेदों के विद्वानों ने बताया है कि प्रदूषण वह भूतापन के चलते ओजोन के बढ़ते छेद को यज्ञ कर्म से ही रोका जा सकता है साथ ही जितेंद्र बंसल द्वारा बताया गया कि यज्ञ कितना जरूरी है और इसके क्या फायदे हैं जिसका उदाहरण होने प्रकार दिया यज्ञ थेरेपी सतयुग से आज तक रोग उपचार में काफी महत्वपूर्ण मानी गयी है। जब जब पृथ्वी पर महामारी का कहर आया उसका निदान ऋषि मुनियों हमारे पूर्वजों ने अनेक ओषधियों जड़ीबूटियों आयुर्वेदिक सुगन्धित सामग्री से यज्ञ करके महामारियों से जनमानस की रक्षा की। इस यज्ञ में आमजन ने श्रद्धा पूर्वक यज्ञ का स्वागत किया और इस महामारी को भगाने में यज्ञ में आहुति डाली इस यज्ञ को समापन करने में सहयोग दिया टीम जितेंद्र बंसल से राकेश शर्मा,बबली शर्मा,अनिल गुप्ता,दिनेश चौहान,अरुण द्विवेदी,मनोज कौशिक,धर्मेंद्र अग्रवाल,मोनिका बंसल,मोहन शर्मा,सुनील दत्त,नवीन सिंगला,राजेंदर भंडारी,देवेंद्र होलकर,सत्येंद्र,महिपाल, कमल,सम्राट साह,नवीन शर्मा,अशोक सेन,सुभाष सिंगला,शिव कुमार शर्मा, गिरीश शर्मा,वह कॉलोनी के मुख्य लोग मौजूद रहे अतः जितेंद्र बंसल द्वारा लोगों से यही अपील की गई जरूरी काम के लिए बाहर निकले और मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें उचित दूरी बनाए रखें।

Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

लिंगायस विद्यापीठ (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम 1956 की धारा 3 के तहत नैक मान्यता प्राप्त डीम्ड विश्वविद्यालय), फरीदाबाद ने”सूचना का अधिकार: समकालीन मुद्दे और चुनौतियां” पर एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया

लिंगायस विद्यापीठ (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम 1956 की धारा 3 के तहत नैक मान्यता प्राप्त डीम्ड विश्वविद्यालय), फरीदाबाद ने 28 मई 2021 को “सूचना का अधिकार: समकालीन मुद्दे और चुनौतियां” पर एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया। हमारे कुलाधिपति डॉ। पिचेश्वर गड्डे एवं कुलपति प्रो. डॉ. ए.आर. दुबे के निरंतर सहयोग से यह कार्यक्रम प्रो. (डॉ.) राधेश्याम प्रसाद, डीन, स्कूल ऑफ लॉ के मार्गदर्शन में सफलतापूर्वक आयोजित किया गया।
आयोजन के उद्देश्य:
सूचना का अधिकार भारत के संविधान के अनुच्छेद 19(1) के तहत एक मौलिक अधिकार है। सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 नागरिकों को सार्वजनिक कार्यालयों से विभिन्न विषयों पर जानकारी प्राप्त करने के लिए सशक्त बनाने के लिए अधिनियमित किया गया था। इस विशेषज्ञ व्याख्यान का उद्देश्य विश्वविद्यालय के कानून के छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों को यह बताना था कि जानकारी कैसे प्राप्त करें, जानकारी प्राप्त करने में कठिनाइयाँ और इसके क्या उपाय है।
रिसोर्स पर्सन के बारे में-
प्रोफेसर (डॉ.) जीत सिंह मान इस आयोजन के संसाधन व्यक्ति थे जो कानून के एसोसिएट प्रोफेसर और नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (एनएलयूडी), दिल्ली में सेंटर फॉर ट्रांसपेरेंसी एंड एकाउंटेबिलिटी इन गवर्नेंस के निदेशक हैं। वह कानून के क्षेत्र में प्रसिद्ध व्यक्तित्व हैं और कई बार सरकारी संस्थानों द्वारा नीति निर्माण/सलाह में आमंत्रित किए जाते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय कार्यक्रमों में 175 से अधिक विशेष व्याख्यान और अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों में 30 व्याख्यान दिए हैं। उनके पास विभिन्न ऑनलाइन और ऑफलाइन पत्रिकाओं में 70 से अधिक लेख और पुस्तकें हैं।
कार्यक्रम का विवरण:
यह आयोजन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित किया गया था। श्री राजीव कुमार झा, सहायक प्रोफेसर, स्कूल ऑफ लॉ ने संसाधन व्यक्ति, गणमान्य व्यक्तियों, संकायों, छात्रों और अन्य प्रतिभागियों का स्वागत किया। तत्पश्चात, इस विषय पर विचार-विमर्श के लिए रिसोर्स पर्सन को आमंत्रित किया गया था। उन्होंने सूचना के अधिकार के ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य और इस अधिनियम को लाने की आवश्यकता के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की। रिसोर्स पर्सन ने बताया कि कैसे सूचना का अधिकार अधिनियम देश के सुशासन में महत्वपूर्ण है और सरकारी विभागों के कामकाज में जवाबदेही और पारदर्शिता की जांच करता है। सूचना के अधिकार ने भी भ्रष्टाचार से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने विभिन्न प्रकार की सूचनाओं के बारे में भी बताया है जो सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत आती हैं, यदि किसी व्यक्ति को मांगी गई जानकारी प्रदान नहीं की जाती है तो उसके लिए उपलब्ध विकल्प क्या हैं। सूचना का अधिकार अधिनियम की कुछ सीमाएँ और अपवाद हैं जैसे कि अधिनियम केवल सार्वजनिक प्राधिकरणों पर लागू होता है न कि निजी पार्टियों या कृत्रिम व्यक्तियों या संस्था पर। इसके अलावा, उन्होंने बताया कि सूचना का अधिकार अधिनियम सूचना प्राप्त करने का एक साधन है और इसका उपयोग शिकायतों के निवारण के लिए नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कुछ ऐतिहासिक निर्णयों और सूचना का अधिकार अधिनियम 2019 के हालिया संशोधन पर भी चर्चा की। प्रश्न और उत्तर सत्र के दौरान छात्रों और दर्शकों द्वारा कई विचारोत्तेजक प्रश्न पूछे गए और संसाधन व्यक्ति द्वारा वाकपटुता से उत्तर दिए गए।
अंत में, स्कूल ऑफ लॉ की सहायक प्रोफेसर सुश्री श्राबनी कर द्वारा धन्यवाद प्रस्ताव के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।
कार्यक्रम के परिणाम:
इस वेबिनार के प्रतिभागियों ने सूचना का अधिकार अधिनियम के बारे में जानकारी और अंतर्दृष्टि प्राप्त की। उन्हें पता चला कि लोकतंत्र में सुशासन सुनिश्चित करने के लिए सूचना का अधिकार कितना महत्वपूर्ण है। उन्होंने सूचना का अधिकार अधिनियम और उसके समाधानों के कार्यान्वयन में समसामयिक मुद्दों और चुनौतियों को भी जाना।

Posted by: | Posted on: 3 weeks ago

सतयुग दर्शन विद्यालय ने आयोजित किया दिमाग़ी विकास के विभिन्न चरणों की ज्ञानात्मक स्थितियों पर आधारित वर्चुअल कार्यक्रम

आज दिनांक 28-5-2021 को सतयुग दर्शन विद्यालय की तरफ से दो वर्चुअल वेबिनार आयोजित किए गए।
एक जूनियर वर्ग के छात्रों एवम उनके अभिभावकों के लिए।

दूसरा सीनियर विंग के छात्रों एवं उनके अभिभावकों के लिए।

दोनों ही कार्यक्रमों में लगभग 200 छात्र-अभिभावकों ने भाग लिया। इस वेबिनार का संचालन विद्यालय के चेयरमैन श्री मोहित नारंग जी एवं प्रिंसिपल श्री नीरज मोहन पुरी जी के समन्वय एवं मार्गदर्शन के तहत निष्पादित किया गया।

जूनियर विंग के छात्र-अभिभावकों को मानसिक संवेगात्मक हैल्थ कोच श्रीमती वंदना अरोड़ा जी ने विद्यालय की ही अध्यापिका श्रीमती रेखा बत्रा जी के सहयोग से प्रस्तुत किया।

श्रीमती अरोड़ा जी ने बताया कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में किस प्रकार से अपने संवेगों को नियंत्रण में रखकर विचार प्रक्रिया को किस प्रकार से शुद्घ-सात्विक व परिपक्व बनाया जा सकता है।

सीनियर विंग के छात्र-अभिभावकों के कार्यक्रम में भी मुख्य वक्ता ब्रेन स्पेशलिस्ट डॉ० कृष्ण कुमार जी एवं उनकी टीम ने विद्यालय की अध्यापिका श्रीमती अनुराधा नारद जी के सहयोग से बहुत सारी दिमागी कसरतें कराकर बहुत ही हल्केपन का अभ्यास कराया।
ये दोनों वेबिनार छात्रों के ही नहीं वरन सभी आम जन मानस के लिए भी उपयोगी थे।

कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के अंत में प्रधानाचार्य श्री नीरज मोहन पुरी जी अपने संबोधन में बताया कि आज हमारे चारों तरफ़ एक तनावपूर्ण वातावरण बना हुआ है। ऐसे वातावरण में हम सभी को अपने संवेगों, भावनाओं व मानसिक तथा शारीरिक प्रक्रियाओं में समन्वय करना सीखना होगा।
तभी हम स्वस्थ नागरिकों, स्वस्थ समाज व स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण कर पाने का सपना पूरा कर पाएँगे।

वर्चुअल कार्यक्रम के अंत में प्रधानाचार्य श्री नीरज मोहन पुरी जी ने विद्यालय की पूरी सहयोगी टीम को व बाहर से जुड़े हुए मुख्य वक्ताओं, छात्र-अभिभावकों का कार्यक्रम से जुड़ने पर साभार अभिनंदन किया।