शिक्षा

now browsing by category

 
Posted by: | Posted on: 4 months ago

लिंग्याज में मनाया गया विश्व जल दिवस

लिंग्याज डीम्ड-टू-बी- यूनिवर्सिटी में विश्व जल दिवस मनाया गया। जिसका मुख्य उद्दश्य विश्वभर में पीने के पानी की आपूर्तिव उसका महत्व को समझाने का था।सभी को पानी की जरूरत को समझाने के उद्देश्य से ही यूनिवर्सिटीमें विश्व जल दिवस मनाया गया। जिसमें बच्चों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया और पानी के महत्व को लेकर अपने विचार व्यक्त कियें।डिपार्टमेंट ऑफ इंगलिश के द्वारा इस दिवस को आयोजित किया गया। जिसका संचालन डॉ. रशमी ने किया।

इस अवसर पर यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. ए.आर.दुबे, डीन ऑफ एकेडमिक डॉ. पंकज मिश्रा समेत कई और फैकल्टीज ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराई। वहीं कुलपति डॉ. ए.आर.दुबे ने पानी को लेकर अपने विचार वयक्त किए कि हमारे जीवन में जल का क्या महत्व है। पानी के बिना हमारा जीवन किस तरह अधूरा है। इन सभी बातों पर चर्चा की। उसी तरह से डॉ. पंकज ने भी सभी के समक्ष अपने विचार रखे। वहीं डिपार्टमेंट ऑफ इंगलिश की एकेडमिक डीनप्रोफेसर आंचल मिश्रा ने कहां किमैं अपने डिपार्टमेंट की सभी फैकल्टीज का धन्यवाद करती हूं कि उन्होंने इस इवेंट को करने में अपना पूरा सहयोग दिया। उन्होंने कहां कि इस इवेंट को करने का मकसद यहीं था कि हम सब पानी की महत्वता को समझे और उस पर अमल भी करें।

कब से मनाया जा रहा है यह दिवस

1993 में पहली बार विश्व जल दिवस मनाया गया था और संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1992 में अपने ‘एजेंडा 21’में रियो डी जेनेरियो में इसका प्रस्ताव दिया था। संयुक्त राष्ट्र के अनुसारलगभग 4 बिलियन लोग वर्ष में कम से कम एक महीने के लिए पानी की भारी कमी का अनुभव करते हैं और लगभग 1.6 बिलियन लोग – दुनिया की आबादी का लगभग एक चौथाई – एक स्वच्छ, सुरक्षित जल आपूर्ति तक पहुँचने में समस्याएं हैं।

Posted by: | Posted on: 4 months ago

विदेशों में भी अपनी छाप छोड़ रही है लिंग्याज यूनिवर्सिटी

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | लिंग्याज डीम्ड-टू-बी- यूनिवर्सिटी की अपनी एक अलग पहचान है। यूनिवर्सिटी अपनी इसी पहचान में कई और कड़ियों को जोड़ रही है। भारत के अन्य प्रांतों के साथ-साथ अब विदेशों से भी यूनिवर्सिटी में छात्र पढ़ने आ रहे है। किसी भी छात्र के जीवन में हायर सेकेंडरी पास करने के बाद सबसे महत्वपूर्ण निर्णय होता है कि उसे किस कॉलेज में एडमिशन लेना चाहिए। अक्सर लुभावने विज्ञापन, सुनी-सुनाई बातों और दूसरों की देखा-देखी बच्चे और अभिभावक गलत कॉलेज का चुनाव कर लेते हैं जो स्टूडेंट के करियर के लिए बुरा साबित होता है। लेकिन लिंग्याज यूनिवर्सिटी अपनी टीम को विदेश भेजकर वहां काउंसलिंग करवाती है। ताकि यूनिवर्सिटी के हर पहलू को विदेशी छात्र समझ और परख सके कि उनके भविष्य के लिए क्या सही हैं और क्या गलत। इंटरनेळनल एडमिशन एंड रिलेशन के हैड इरशाद अरमानी ने बताया कि दिल्ली एनसीआर में जितनी भी यूनिवर्सिटीज है उनमें अभी तक यूएसए से कोई भी छात्र पढ़ने के लिए नहीं आया है। लिंग्याज ऐसी पहली यूनिवर्सिटी है जहां यूएसए से भी छात्र पढ़ने के लिए आ रहे है। उन्होंने बताया कि मैं खुद विदेशों में जाकर काउंसलिंग करता हूं। ताकि बच्चों को मैं उनके भविष्य के लिए गाइड कर सकु। यूनिवर्सिटी में यूएसए के अलावा अफगानिस्तान, नाईजीरिया, जिम्बाब्वे और कांगो से भी छात्र काफी मात्रा में एडमिशन ले रहा हैं। इरशाद अरमानी ने बताया कि इसी साल बेल्जियम की यूनिवर्सिटी थॉमस मोर यूनिवर्सिटी के साथ हमने टाइअप किया है। जिसके जरिए यहां के छात्र एक साल के लिए निशुल्क बेल्जियम में पढ़ सकेंगें और अगर कोई वहां का छात्र एक साल के लिए भारत में पढ़ना चाहे तो वो भी लिंग्याज में निशुल्क पढ़ सकेगा। इतना ही नहीं छात्रों के साथ-साथ अगर कोई टीचर यहां से
विदेश जाकर पढ़ाना चाहे या फिर वहां से कोई टीचर हमारी यूनिवर्सिटी में पढ़ाना चाहे तो वो भी यहां पढ़ा सकते है। इसके साथ बेल्जियम यूनिवर्सिटी से हमने रिसर्च कॉलेब्रेशन भी किया है। दक्षिण अफ्रीका, नेपाल, नाईजीरिया, अफगानिस्तान से अगले सैशन में कम से कम 100 छात्रों को लाने का हमारा टारगेट है। हमारी कोशिश है कि यूनिवर्सिटी को ग्लोबल के साथ जोड़ सके। हमारा बाहर की बहुत सी यूनिवर्सिटी के साथ एमओयू (समझौता ज्ञापन) करने का भी प्लान है। लिंग्याज ग्रुप के चेयरमैन डा. पिचेश्वर गड्डे का कहना है कि ज्यादातर ऐसा होता है कि भारत के छात्र ही विदेश भागने में लगे रहते है, लेकिन हमारी ये कोशिश है कि अब विदेश से ज्यादा से ज्यादा छात्र भारत में आकर पढ़े। ग्लोबलाइजेशन का ट्रेंड बढ़ रहा है। छात्रों को क्या पढ़ना है। किस देश में पढ़ना है। इस बारे में सोचना चाहिए। इसलिए हमारी यही कोशिश है कि भारत के साथ-साथ विदेशों से भी ज्यादा से ज्यादा छात्र यहां आकर अपनी पढाई करे।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

हरियाणा के पूर्व मंत्री विपुल गोयल के घर राम मंदिर के लिए संकल्प समर्पण निधि का कार्यक्रम आयोजित

विनोद वैष्णव | फरीदाबाद सेक्टर 17 स्थित अपने आवास पर पूर्व मंत्री विपुल गोयल द्वारा संकल्प समर्पण निधि अभियान के तहत प्रभु श्री राम मंदिर के लिए विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक कुमार जी की अध्यक्षता में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जैसाकि आप सभी को ज्ञात है कि रामलल्ला कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है, इसके लिए देशभर से संकल्प समर्पण निधि के तहत सहयोग राशि जुटाई जा रही है । अयोध्या के साथ साथ पुरे देशभर् मे इस ख़ुशी को मनाने के लिए शोभा यात्रा निकाली जा रही है ।

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की तैयारियां जोर शोर से चल रहीं हैं और देश के अलग अलग हिस्सों से लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे है। विहिप के कार्यकर्ताओ और राम भक्तो की ओर से मंदिर निर्माण के लिए संकल्प समर्पण निधि कार्यक्रम के जरिये समाज को जागृत करने के लिए खुशी के साथ इस मुहीम को पुरा करने मे सहयोग कर रहे हैं ।

विपुल गोयल द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम मे अलोक कुमार राष्ट्रीय अध्यक्ष विश्व हिन्दु परिषद ने बतौर मुख्यातिथि के रूप मे शिरकत की। इससे पहले गोयल और मौजूद लोगों द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष का बुक्के और फूल मालाओ से जोरदार स्वागत किया और भगवान राम के जयकारो के नारो से कार्यक्रम राममयी हो गया। उपरोक्त कार्यक्रम में शिरकत करने वाले सभी लोगों द्वारा दिल खोलकर संकल्प समर्पण निधि अभियान के तहत हिस्सा लिया और प्रभु श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए भरपूर सहयोग दिया ।

इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष विहिप द्वारा अपने सम्बोधन मे कहा कि यह बहुत ही गर्व का विषय है हमारी इस पीढ़ी के लिए जो प्रभु श्री राम मंदिर के निर्माण में सहयोग कर रही है क्योंकि वर्षों बाद ऐसा मौका आया है कि हमारी इस पीढ़ी के लिए कि हम प्रभु श्री राम मंदिर में अपनी भागीदारी अदा कर सकें। एक वह समय था जब प्रभु श्रीराम के लिए संपूर्ण वानर सेना ने प्रभु मर्जी से अपना सहयोग समुन्द्र पर पुल बाँधने मे दिया था और आज इस पीढ़ी के लिए यह मौका प्रभु इच्छा से ही प्राप्त हुआ है कि हम सभी लोग इस भव्य मंदिर के निर्माण हिस्सा बन सकेंगे और हमें इस अदभुत योगदान का अवसर मिला है ।

इस मौके पर विपुल गोयल ने कार्यक्रम मे शामिल् हुए सभी सहयोगकर्ताओं का साधुवाद धन्यवाद और आभार प्रकट किया जिन्होंने अपने-अपने स्वैच्छिक कोष से संकल्प समर्पण निधि के तहत मंदिर निर्माण के कार्य में सहयोग किया।

इस मौके पर अनेक उद्यमियों, सामाजिक संस्थाओं के साथ-साथ पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रवीण चौधरी, नरेश नंबरदार पार्षद, सुरजीत अधाना जिला पार्षद, कुलदीप सिंघल, जितेंद्र गर्ग, कपिल पाराशर, सुरेश भोला के साथ साथ अन्य काफी लोग मौजूद थे।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने बीडीएस के छात्रों का किया स्वागत

फरीदाबाद (दीपक शर्मा /देवेंदर सिंह/ ) | मानव रचना डेंटल कॉलेज में बीडीएस 2021-25 सत्र के छात्रों का स्वागत किया गया। फ्रेशर्स बैच 3-दिन के कार्यक्रम और एक सफेद कोट समारोह के साथ अपनी यात्रा शुरू करेंगे । इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर पदम श्री (डॉ.) महेश वर्मा, वीसी, गुरू गोविंद सिंह इंद्रप्रस्त यूनिवर्सिटी शामिल हुए। मानव रचना शिक्षण संस्थान के उपाध्यक्ष अमित भल्ला, डॉ. संजय श्रीवास्तव, (एमडी, MREI) और (वीसी MRIIRS), सरकार तलवार, निर्देशक, खेल, MREI, मानव रचना डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल, डॉ. अरुणदीप सिंह, डॉ. आशिम अग्रवाल(वाइस प्रिंसिपल) और अन्य संयोजक शामिल थे। इस अवसर पर MRDC के वरिष्ठ सदस्य, छात्र और उनके माता-पिता भी उपस्थित थे।मुख्यअतिथि डॉ. महेश वर्मा ने अपने स्कूल से कॉलेज तक के सफर को साक्षा करके छात्रों को संबोधित किया। उन्होनें मानव रचना यूनिवर्सिटी के कई स्पेशल अलग-अलग फील्ड की महत्वता को समझाते हुए पढ़ाई के साथ-साथ अलग डिसिप्लिन के महत्व को भी सांझा किया।MREI के उपाध्यक्ष अमित भल्ला ने छात्रों को शिक्षण संस्थान की आने वाली योजना इनॉवेशन प्रोडक्ट स्कील केंद्र को समझाते हुए डेंटल छात्रों को पढ़ाई के दौरान कुछ नया करने को प्रेरित किया। साथ ही उन्होने छात्रों को शुभकानाएं देते हुए समझाया कि स्कूल से प्रोफेशनल जिंदगी को कैसे नए तरीके से हेंडल कर सकते हैं।मानव रचना डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने सभी छात्रों का कॉलेज में स्वागत किया और उम्मीद जताई की आने वाले पांच साल छात्रों के लिए उनके करियर के लिए बेहतरीन साबित होंगे। उन्होनें मानव रचना शिक्षण संस्थान के बारे में और बीडीएस और अन्य प्रोग्राम के बार में छात्रों को रूबरू करवाया। मानव रचना यूनिवर्सिटी के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव ने भी छात्रों को शुभकामनाएं दीं ।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

ध्यान-कक्ष यानि समभाव-समदृष्टि के स्कूल की भव्य शोभा

फरीदाबाद (दीपक शर्मा /देवेंदर सिंह ) | भौतिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक गवर्मेण्ट मीडिल स्कूल, बादशाहपुर के छात्र-छात्राएँ आज अपने प्रधानाचार्य आजाद सिंह व अन्य सहयोगी अध्यापकों यथा मंजू गुप्ता, जावेद , राजकुमार व सुंदर सिंह सहित फऱीदाबाद, ग्राम भूपानी स्थित, प्रमुख दर्शनीय स्थल, ध्यान-कक्ष यानि समभाव-समदृष्टि के स्कूल की भव्य शोभा देखने वसुन्धरा परिसर पहुँचे। वसुन्धरा परिसर के द्वार से कतारों में आती विद्यार्थियों की यह पंक्तियाँ देखते ही बनती थी।उपस्थित बच्चों को इस कैमपस के मु2य आकर्षण केन्द्र भव्य ध्यान-कक्ष की शोभा व निर्मित बनावट की महत्ता से परिचित कराते हुए साथ-साथ यह भी बताया गया कि यह एकता का प्रतीक ध्यान-कक्ष सतयुग की पहचान है व मानवता का स्वाभिमान है। अत: एकता में बने रहने हेतु हमारे लिए इंसानियत को अपनाना व उसी अनुसार व्यवहार करना आवश्यक है। ऐसा सुनिश्चित करना ही मानव धर्म पर डटे रहने की बात है। उन्हें कहा गया कि जो इंसान अपने इस निज धर्म पर निर्विकारता से मजबूत बना रह पाता है उसी का ही नैतिक स्तर महान होता है और वह सदाचार का प्रतीक इंसान ही इस जगत के उद्धार हेतु कुछ कर पाता है। आगे बच्चों को यह भी बताया गया कि निज धर्म पर सुदृढ़ बने रहने पर ही मन शांत रह सकता है और मन की शांति ही एक इंसान को धीरता से जीवन पथ पर उन्नति करने की योग्यता प्रदान करती है। तभी तो वह प्राणी अपने व सबके प्रति जीवन कत्र्तव्य सर्वहित को ध्यान में रखते हुए कुशलता व सहजता से निभा पाता है। आगे कहा गया कि सब बच्चे ऐसे ही बने इस हेतु आओ सब मिलकर ईश्वर से ऐसी शांति व शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करें जिससे हमारे अन्दर आत्मिक बल का वर्धन हो और हम पराक्रमी एक अच्छे व नेक इंसान की तरह जीवन जीने के योग्य बन सके। इसके पश्चात् सबने हाथ जोड़ कर यह प्रार्थना की

Posted by: | Posted on: 5 months ago

यूर्नाटेड़ प्राईवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा डबुआ कालोनी स्थित पी.पी. कान्वेंट स्कूल में एक सभा का आयोजन किया गया

फरीदाबाद (बृजेश भदौरिया /एस पी सिंह ) | यूर्नाटेड़ प्राईवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा डबुआ कालोनी स्थित पी.पी. कान्वेंट स्कूल में एक सभा का आयोजन किया गया। इस सभा में शहर के सभी प्राईवेट स्कूल्स संचालकों ने हिस्सा लिया। सभा की अध्यक्षता एसोसिएशन के अध्यक्ष नंदराम पाहिल ने की। जबकि सभा के मंच का संचालन अमित जैन ने किया। सभा में निसा के महासचिव और भिवानी प्राईवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष रामअवतार शर्मा विशेष रूप से मौजूद रहे।इस मौके पर आए हुए सभी शिक्षाविदें का पी.पी. कन्वेंट स्कूल के प्रबंधक विमल पाल ने बुक्के देकर व शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया।
सभा में उपस्थित शिक्षाविदों से आह्वान करते हुए राम अवतार शर्मा ने कहा कि वह बिना एसएलसी दूसरे स्कूल में एडमिशन न देने और नया शैक्षणिक सत्र अप्रैल 2021 से ही आरंभ करें, ताकि कोई भी छात्र शिक्षा से वंचित न रहे।महासचिव राजेश मदान ने कहा कि इस कोरोना काल में स्कूल प्रबंधकों को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने अभिभावकों से अपील की है कि वह बिना किसी हिचकिचाहट के अपने बच्चों को स्कूल भेजें। सभी स्कूलों में कोविड-19 गाइड लाईन की पालना की जा रही है।सभा के समापन अवसर पर पी.पी. कन्वेंट स्कूल के प्रबंधक विमल पाल ने रामअवतार शर्मा और सभी स्कूल प्रबंधकों का धन्यवाद किया। सभा के मंच का संचालन अमित जैन ने किया।सभा में अन्य के अलावा महासचिव राजेश मदान, शिक्षाविद् रामबीर भड़ाना, राजकुमार त्यागी, सतीश फौगाट, चंद्र सैन शर्मा, मानव शर्मा, झम्मन लाल शर्मा, अशोक यादव, नरेश गुप्ता सहित अन्य गणमान्य शिक्षाविद् मौजूद रहे।

Posted by: | Posted on: 5 months ago

पल्ला स्थित तरूण निकेतन पब्लिक स्कूल ने अपना 21वाँ स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | पल्ला स्थित तरूण निकेतन पब्लिक स्कूल ने अपना 21वाँ स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया । स्कूल की स्थापना 6 फरवरी सन् 2000 में स्व जगराम की प्रेरणा से कमल सिंह तंवर ने की | इस शुभ दिन की शुरुआत हवन से की गई, इस अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर रंगारंग प्रस्तुति दी । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे स्कूल के निर्देशक कमल सिंह तंवर जी के शुभ वचनों द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत की गई | चेयरमेन हिमांशु तंवर,प्रधानाचार्या रीना भटाचार्या,तथा साथ ही प्रबंधक समिति के सदस्यों की उपस्तिथि ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ा दी । लॉक डाउन पिरीयड के बाद इस तरह के कार्यक्रम ने बच्चों तथा अध्यापकों में नई उमंग जगा दी | उप प्रधानचार्या राधा चौहान जी की सन्देशप्रक कविता ने समा बांध दिया | प्रधानचार्या द्वरा बच्चों को शिक्षा के लिए जागरूक रहने तथा सेफ और फिट रहने का सन्देश दिया |

Posted by: | Posted on: 6 months ago

फरीदाबाद के रायन इंटरनेशनल स्कूल में 72 वां गणतंत्र दिवस मनाया गया

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | राष्ट्रीय एकता की भावना का जश्न मनाने के लिए 26 जनवरी, 2021 को फरीदाबाद के रायन इंटरनेशनल स्कूल में 72 वां गणतंत्र दिवस मनाया गया। प्रातःविद्यालय के प्रांगण में प्रधानाचार्या निशा शर्मा द्वारा ध्वजारोहण किया गया तथा राष्ट्रगान गाया गया।
एक विशेष आभासीय सभा का भी आयोजन किया गया जिसकी शुरुआत बाइबल पाठ तथा भगवान की प्रार्थना के साथ की गई।कार्यक्रम की मुख्यातिथी डा अक्षी चौधरी,जो अर्धसैनिक बलों के साथ एक अधिकारी है।मुख्यातिथी और स्कूल के कुछ पूर्व छात्रों का प्रिंसिपल निशा शर्मा और सभी स्टाफ सदस्यों द्वारा स्वागत किया गया तथा उन्हें सम्मानित किया गया।
विद्यालय के छात्रों के द्वारा विभिन्न भाषाओं में अतिथियों का हार्दिक स्वागत कियागया।
देशभक्ति की भावना को जगाने के लिए, राष्ट्रीय प्रतिज्ञा ली गई। छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का एक अदभुत प्रस्तुतिकरण दर्शाया, जिसने न केवल हमारे देश की प्रगति को उजागर किया, बल्कि हमारे राष्ट्र की एकता को भी दिखाया, खासकर COVID समय में।
विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता छात्रों को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया। दिन का मुख्य आकर्षण स्कूल के पूर्व छात्रों अनुपम, युवराज और लक्षय द्वारा किया गया विशेष संगीत प्रदर्शन था, जिसने सभी का मन मोह लिया। इन छात्रों ने अपना नया एल्बम ‘दरमियान ’भी पेश किया।
मुख्यातिथी ने अपने भाषण में छात्रों को एक सच्चे देशभक्त होने के लिए प्रेरित किया और देश सेवा के लिए सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित किया।
स्कूल प्रिंसिपल, निशा शर्मा ने अपने संबोधन में सभी शिक्षकों और छात्रों के प्रयासों की सराहना की। उन्होने मुख्यातिथी और माता-पिता का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि 26 जनवरीकादिन एक विशेष तथा महत्वपूर्ण दिन है ,हमें इसे पूरे जोश के साथ मनाना चाहिए।हमें राष्ट्र की ताकत बनना चाहिए और इसे अधिक से अधिक ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद करनी चाहिए।
कार्यक्रम का समापन धन्यवाद प्रस्ताव के पश्चात स्कूल एंथम और राष्ट्रगान के साथ किया गया।

Posted by: | Posted on: 6 months ago

राजकीय महाविद्यालय खेड़ी गुजरान में बीए तथा बीकॉम के विद्यार्थियों के लिए आगमन समारोह का आयोजन किया गया

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | राजकीय महाविद्यालय खेड़ी गुजरान में बीए तथा बीकॉम के विद्यार्थियों के लिए आगमन समारोह का आयोजन किया गया समारोह के प्रारंभ में महाविद्यालय के प्राचार्य श्री ईश्वर कुमार गुप्ता ने नए सत्र के शुभारंभ की कामना की तथा सभी विद्यार्थियों का स्वागत किया एवं डॉ तनुश्री दहिया ने विद्यार्थियों को उनके पाठ्यक्रमों से संबंधित आवश्यक जानकारियां देते हुए बताया कि सभी विद्यार्थियों का 75% उपस्थिति रखनी अनिवार्य है तथा महाविद्यालय की तरफ से दी जाने वाली इंटरनल एसेसमेंट की गणना किस आधार पर की जाती है इसकी भी जानकारी दी गई महाविद्यालय की विभिन्न सुविधाओं के बारे में भी अवगत कराया गया लीगल लिटरेसी सेल के बारे में श्रीमती राजेश कुमारी ने प्लेसमेंट सेल सांस्कृतिक गतिविधियों के बारे में नीति पवार ने लाइब्रेरी एवं स्कॉलरशिप के बारे में दुष्यंत कुमार ने स्पोर्ट्स तथा बस पास के बारे में डॉक्टर अरुण कुमार ने विद्यार्थियों को जानकारी दी इसके साथ-साथ राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर राजनीति विभाग की प्राध्यापिका राजेश कुमारी ने सभी विद्यार्थियों को निष्पक्ष मतदान की शपथ दिलाई कार्यक्रम के अंत में डॉ सुधा ने सभी विद्यार्थियों तथा स्टाफ सदस्यों का धन्यवाद किया

Posted by: | Posted on: 6 months ago

मानव रचना शिक्षण संस्थान में केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने विश्वस्तरीय अल्टीमेट खो खो प्रशिक्षण शिविर का किया शुभारंभ:-अमित भल्ला

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )| हमेशा से ही मानव रचना शिक्षण संस्थान में खेल को बढ़ावा दिया जाता है, और यही वहज है कि कई छात्रों ने खेल के मैदान में अपना परचम लहराया है और मानव रचना शिक्षण संस्थान का सर गर्व से ऊंचा किया है जिसका उदाहरण आज मानव रचना शिक्षण संस्थान में अल्टीमेट खो खो प्रशिक्षण शिविर उद्घाटन समारोह मैं नजर आया, इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने मशाल जलाकर अल्टीमेट खो – खो प्रशिक्षण लीग को हरी झंडी दिखाया ।

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने मानव रचना में 25 मीटर और 50 मीटर शूटिंग रेंज का उद्घाटन किया और खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया। यह शूटिंग रेंज अपने आप में इसलिए भी खास है क्योंकि दिल्ली एनसीआर में इस तरह का पहला शूटिंग रेंज अब मानव रचना शिक्षण संस्थान में देखने को मिलेगा इस शूटिंग रेंज की खास बात यह है कि यह रेंज इलेक्ट्रॉनिक और मैनुअल दोनों है तरह से बनाया गया है,जिसमें 10 लेन हैं। SUIS ASCOR इलेक्ट्रॉनिक टारगेट और 0.22 हथियारों से लैस,यह रेंज सभी के लिए खुला है । खास बात यह है कि इसमें जो शूटिंग के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं उनके लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है । वहीं अल्टीमेट खो- खो प्रशिक्षण शिविर की बात करें तो इसमें कुल 73 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं जिसको खेल विशेषज्ञों द्वारा ट्रेनिंग दी जा रही है ।

उद्घाटन समारोह में खो-खो महासंघ के महासचिव सुधांशु मित्तल ,मानव रचना शिक्षण संस्था के उपाध्यक्ष अमित भल्ला, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना, देश के लिए ओलंपिक में लगातार दो पदक जीतने वाले एकमात्र पहलवान सुशील कुमार ,भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी उपस्थित रहे।

इस दौरान खो – खो प्रदर्शनी मैच का आयोजन किया गया जिसमे पहली टीम केंद्रीय खेल मंत्री किरेण रिजिजू का तो वहीं दूसरी टीम पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना के बीच खो- खो मैच का आयोजन किया गया।

इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि मुझे लगता है कि खेल विज्ञान ही हेलो का भविष्य है और उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अहम योगदान रहा है जिस समय रेडियो के माध्यम से खेलो को सुनता था उस समय बहुत ही गर्व होता था कि हमारे देश के खिलाड़ी व देश के लिए मैदा लेकर आ रहे हैं और जब मुझे खेल मंत्री बनाया गया तो मैंने भी जी जान से खेल को आगे बढ़ाने के लिए हमेशा प्रयास किया और बात की जाए खो-खो की तो यह हमारे देश का खेल है और इसे आगे ले जाना हम सब का कर्तव्य है और आने वाले समय में भी खो – खो खेल के लिए हमारे पास बजट की व्यवस्था है धन्यवाद देता हूं मानवता शिक्षण संस्थान का जो इस तरह से और इतने बड़े स्तर पर वैज्ञानिक तरीकों से अल्टीमेट खो – खो लीग प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है और मुझे पूरा विश्वास है कि इसमें से कई खिलाड़ी निखर कर सामने आएंगे और देश विदेशों में अपना डंका बजाएंगे और देश का नाम विदेशों में गर्व से ऊंचा करेंगे।