व्यापार

now browsing by category

 
Posted by: | Posted on: 9 months ago

देवी चित्रलेखा ने सी.दास ग्रुप के कारपोरेट कार्यालय व रेडियो महारानी में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा की बे शक दुनिया के पास शस्त्रों की भरमार हो, मगर भारत के पास शास्त्रों का भंडार है

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव )।फरीदाबाद। कथावाचक देवी चित्रलेखा ने कहा कि बेशक दुनिया के पास शस्त्रों की भरमार हो, मगर भारत के पास शास्त्रों का भंडार है। उन्होंने कहा कि हमें प्रभु के चरणों में खुद को समर्पित कर देना चाहिए, उसके बाद हमारे सुख दुख की चिंता भगवान स्वयं करेंगे। देवी चित्रलेखा सोमवार को एनआईटी पांच स्थित सी.दास ग्रुप के कारपोरेट कार्यालय व रेडियो महारानी में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहीं थीं। देवी चित्रलेखा का स्वागत सी. दास ग्रुप के सीईओ बीआर भाटिया ने पुष्प गुच्छ भेंट करके किया। उनके साथ रेडियो महारानी के निदेशक विपिन भाटिया भी मौजूद थे।
देवी चित्रलेखा ने कहा कि हमें कर्म करना नहीं छोड़ना चाहिए। भगवान कृष्ण ने भी कर्म करने का उपदेश दिया है। कर्म करते हुए इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि कर्म सही दिशा में किया जा रहा है या नहीं। यदि हम गलत दिशा में भागेंगे तो उसका परिणाम भी सही नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कर्म करने के साथ ही हमें प्रभु का भी स्मिरण करते रहना चाहिए। प्रभु के चरणों में खुद को समर्पित कर देने के बाद हमारे लिए क्या अच्छा है और क्या बुरा भगवान खुद देखेंगे। इस दौरान उन्होंने भगवान कृष्णा के भजनों ने उपस्थित लोगों को मंत्र मुग्ध कर दिया।
देवी चित्रलेखा का धन्यवाद करते हुए सी.दास ग्रुप के सीईओ बीआर भाटिया ने कहा कि कोविड-19 जैसी महामारी के दौरान हर कोई परेशान रहा। यह भगवान की कृपा है कि आज हम लोग सुरक्षित यहां बैठे हैं और उनका धन्यवाद कर रहे हैं। कार्यक्रम के अंत में बीआर भाटिया ने स्मृति चिन्ह भेंट कर देवी चित्रलेखा का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर रेडियो महारानी से वरिष्ठ प्रबंधक सपना सूरी, वरिष्ठ सलाहाकार आलोक अरोड़ा सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Posted by: | Posted on: 10 months ago

कोरोना काल के दौरान लोगो में बढ़ा आकर्षित मास्क का प्रचलन

कोरोना काल के दौरान लोगो में बढ़ा आकर्षित मास्क का प्रचलन

फरीदाबाद (ख्याति वर्मा /ऋतू चौहान ) | वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने लोगो के जीने का सलीका ही बदल दिया है इस महामारी की वजह से भारत में रहने वाले सभी निम्न व उच्च वर्ग के लोगो को इसने  घरो में रहने के लिए मजबूर कर दिया था जिसकी वजह से लोगो को काफी परेशानियो का सामना करना पड़ा! विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है कोरोना  वायरस बहुत ही सूक्षम (छोटा ) होता है  लेकिन इसका प्रभाव बहुत ही भयंकर है, इतना  भयंकर की इसके संक्रमण में आने से मृत्यु भी हो सकती है इस बीमारी के लक्षण है- खांसी, जुखाम, छींक और सांस लेने में परेशानी आदि है इन्ही कोरोना वायरस के लक्षणों  से बचने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन व स्वास्थ्य मंत्रालय ने कुछ दिशा निर्देश  जारी किए  है जिसमे सबसे महत्वपूर्ण है- मास्क एवं हैण्ड  सेनीटाइज़र का प्रयोग एक वक्त था जब लोग वायरस से  बचने के लिए किसी भी प्रकार के मास्क का प्रयोग करते थे चाहे वह कपड़े
का मास्क हो या घर पर बनाया गया परंतु इस कोरोना वायरस बीमारी की अवधि इतनी बढ़ गई की इसका स्वरूप ही बदल गया बाजार में नए -नए प्रकार के व ब्रैंडिड मास्क बिकने लगे है! उदहारण  के तौर पर आपको बताते है की शादियों में किस प्रकार के मास्क का प्रयोग किया जा रहा है मान लो अगर हल्दी की रस्म है तो उसके लिए पीले रंग का मास्क है और अगर मेहंदी की रस्म है तो उसके लिए हरे रंग के मास्क का प्रयोग किया जा रहा है, दुल्हन शादी
में अपने लहंगे से मैचिंग ब्राइडल मास्क का प्रयोग करती है जो बहुत ही सुंदर व आकर्षित लगते  है, व्यापारिक क्षेत्र में लोग अपनी ड्रेस कोड के हिसाब से मास्क का प्रयोग करते है! इसके आलावा बाजार में विभिन्न प्रकार के मास्क उपलब्ध है जैसे-
चिल्ड्रन प्रिंट
एनिमल प्रिंट
फ्लोरल प्रिंट
एथनिक प्रिंट
कलमकारी प्रिंट
पटोला प्रिंट आदि

निष्कर्ष
लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से आकर्षित मास्क का प्रयोग तो करे ही लेकिन सामाजिक
दूरी का पालन भी आवश्य करे! 

Posted by: | Posted on: October 7, 2020

नीति आयोग के एक सराहनीय उद्यम एटी एल का वार्षिक उत्सव रायन इंटरनेशनल स्कूल फरीदाबाद में 24-25 सितंबर को बर्नर स्फेस्ट के रूप में आयोजित किया गया

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव )| नीति आयोग के एक सराहनीय उद्यम एटी एल का वार्षिक उत्सव रायन इंटरनेशनल स्कूल फरीदाबाद में 24-25 सितंबर को बर्नर स्फेस्ट के रूप में आयोजित किया गया।महामारी के कठिन समय में छात्रों ने अपने अनुभव से क्या-क्या सीखा– यही इस फेस्ट का मुख्य उद्देश्य था।जब बच्चे घरों में बंद हो गए तब स्क्रीन ही उनका स्कूल बन गई।ऐसे समय में आभासीय शिक्षा ने छात्रों के लिए कई नए आयाम खोल दिए। इस उत्सव में दिल्ली एनसीआर के 18 विद्यालयों के कक्षा आठवीं से बारहवीं तक के छात्रों ने हिस्सा लिया।छात्रों ने कोविड-19 के समय में सोशल डिस्टेंसिंग तथा सेहत बनाए रखने के लिए विभिन्न उपकरणों का निर्माण किया।
6 अक्टूबर 2020 को इस बर्नर स्फेस्ट का समापन समारोह मनाया गया जिसमें राष्ट्रीय विज्ञान तथा प्रौद्योगि कीसंचार परिषद, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग,भारत सरकार के सलाहकार तथा प्रमुख डॉ मनोज कुमार पटैरिया मुख्य अतिथि के रूप में पधारे।
कार्यक्रम का प्रारंभ बाइबल पाठ तथा प्रार्थना से किया गया।मुख्य अतिथि का स्वागत पांच विभिन्न भाषाओं में छात्रों के द्वारा सम्मान पूर्वक किया गया।प्रतिभागी छात्रों ने अपने अनुभव वहां उपस्थित लोगों के साथ साझा किए।छात्रों ने मुख्य अतिथि से प्रश्न पूछकर विज्ञान तथा तकनीक के विषय में अपनी जिज्ञासा शांत की।मुख्यअतिथि ने भी छात्रों के प्रश्नों के उत्तर खूब खुलकर दिए।उन्हों ने छात्रों के प्रयासों को सराहा तथा विजेता छात्रों को पुरस्कार भी वितरित किए।अपने संदेश में उन्होंने छात्रों को विज्ञान तथा तकनीक के माध्यम से देश की उन्नति तथा तरक्की में अपनी भागीदारी देने के लिए प्रेरित किया।
प्रधानाचार्या निशा शर्मा ने डॉमनोज पटैरिया काअपना अमूल्य समय छात्रों के साथ बिताने के लिए तथा उनका मार्गदर्शन करने के लिए धन्यवाद दिया।उन्होंने आशा प्रकट की कि भविष्य में भी उनका अमूल्य अनुभव छात्रों का मार्ग दर्शन करता रहेगा जिससे वह भविष्य में सफलता की ऊंचाइयाँ छू सकेत था अपने देश को उन्नति के मार्ग की ओर अग्रसर कर सकें।

Posted by: | Posted on: September 7, 2020

प्रॉपर्टी खरीदना एवं बेचना कितना उचित है कोरोना काल में जानिए प्रॉपर्टी एक्सपर्ट सतवीर शर्मा

प्रॉपर्टी खरीदना एवं बेचना कितना उचित है कोरोना काल में जानिए प्रॉपर्टी एक्सपर्ट सतवीर शर्मा

रियल एस्टेट सेक्टर और महामारी

रियल्टी सेक्टर सुस्त अर्थव्यवस्था, क्रेडिट की कमी और बढ़ते माल से पिछले कुछ समय से जूझ रहा है और हाल के कोरोना वायरस महामारी ने चीजों को और खराब कर दिया है. देशभर में लागू लॉकडाउन ने अधिकतर निर्माण कार्यों को रोक दिया है और ज्यादातर मजदूर चले गए हैं या अपने संबंधित गांवों में वापस जाने की योजना बना रहे हैं. इससे आने वाले समय में श्रम की कमी हो सकती है जिससे सेक्टर की रिकवरी पर बुरा असर होगा.

हालांकि, सरकार के हाल ही में राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह सलाह दी कि उन सभी रजिस्टर्ड प्रोजेक्ट्स जिनका रजिस्ट्रेशन और कंप्लीशन डेट 25 मई को खत्म हो रही है, उसे बढ़ाने को कहा है. इसमें आवेदन की कोई जरूरत नहीं है जिससे कुछ डेवलपर को कुछ हद तक राहत मिलेगी.

घर खरीदार के लिए महामारी का असर
दूसरी तरफ, अगर आपकी आय पर कोई असर नहीं हुआ है और आप अपनी प्रॉपर्टी का पजेशन ले चुके हैं, तो यह आपके लिए अच्छा समय हो सकता है क्योंकि आपकी होम लोन पर ब्याज दर रिकॉर्ड स्तर तक कम हो सकती है. अगर आपके पास रेपो रेट से लिंक्ड लोन है, तो आप अपनी ईएमआई में तुरंत गिरावट की उम्मीद कर सकते हैं. और जो लोग MCLR बेस्ड लोन वाले हैं, उन्हें थोड़ा ज्यादा इंतजार करना पड़ सकता है.

इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने कर्जदाताओं से लोन मोरेटोरियम की अवधि को तीन और महीने बढ़ाने के लिए कहा है जिससे कर्जधारकों को इस अप्रत्याशित समय में अपने फाइनेंस को बेहतर तरीके से मैनेज करने में मदद मिल सकती है. हालांकि, यह भी ध्यान दें कि ईएमआई में मोहलत उसका खत्म हो जाना नहीं है. इसके साथ इन तीन महीनों के दौरान ब्याज दर लगती रहेगी जिससे आपकी ईएमआई बहुत बढ़ सकती है खासकर अगर आपने अभी पुनर्भुगतान शुरू किया है.

हालांकि, अगर आपको पजेशन नहीं मिला है, तो आपको निर्माण में देरी की वजह से कुछ लंबा इंतजार करना पड़ सकता है. अगर आप घर खरीदने की सोच रहे हैं, तो रेडी टू मूव इन प्रॉपर्टी बेहतर है. इसके साथ आपको वर्तमान में बेहतर ऑफर भी मिल सकते हैं.

अगर आप कुछ जोखिम जैसे पूरा होने में देरी या बाजार से जुड़े जोखिम ले सकते हैं, तो आप निर्माणाधीन प्रॉपर्टी में निवेश कर सकते है

तो, आपको क्या करना चाहिए ?
कोविड-19 के संकट ने प्रॉपर्टी की रजिस्ट्रेशन में देरी कर दी है और साथ में अलग-अलग विभागों से क्लियरेंस मिलने में भी.
इस महामारी की स्थिति ने बहुत सो लोगों की आय का नुकसान किया है और बहुत से घर खरीदारों के लिए ईएमआई का भुगतान मुश्किल हो सकता है.

लेकिन इसी समय कोरोना के बाद प्रॉपर्टी कीमतों में गिरावट की उम्मीद है. इन बातों को ध्यान में रखकर घर खरीदारों को फैसला लेना चाहिए.

आखिर में, अगर आपने हाल ही में प्रॉपर्टी खरीदी है या लॉकडाउन के बाद योजना है, तो टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी या होम लोन इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने में देर न करें.

यह जानकारी सोशल मीडिया के द्वारा जुटाई गयी है |


सतवीर शर्मा ( डायरेक्टर ) 9810191118 दीप प्रॉपर्टीज
सेक्टर 9

Posted by: | Posted on: September 2, 2020

Maharani Vaishnav Devi Mandir के प्रधान एवँ भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं वर्तमान में व्यापार मंडल फरीदाबाद के प्रधान जगदीश भाटिया से खास बातचीत

Maharani Vaishnav Devi Mandir के प्रधान एवँ भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं वर्तमान में व्यापार मंडल फरीदाबाद के प्रधान जगदीश भाटिया से खास बातचीत

https://www.facebook.com/watch/?v=3197713170314506&extid=JLzxikzy9oQ10YnP
Posted by: | Posted on: August 10, 2020

हरियाणा चीफ़ मिनिस्ट्र मनोहर लाल खट्टर फरीदाबाद दोरे के दौरान आईएमटी भी पहुंचे

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | हरियाणा चीफ़ मिनिस्ट्र मनोहर लाल खट्टर फरीदाबाद दोरे के दौरान आईएमटी भी पहुंचे । तथा फरीदाबादआईएमटी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पदाधिकारियों को विशेष तौर पर मिलने कर समय दिया । जहां केन्द्रीय मंत्री किशन पाल गुज्जर, हरियाणा केबिनेट मंत्री मूल चंद शर्मा, स्थानीय विधायक एवम् एचएसडब्ल्यूसी के चेयरमैन नयनपाल रावत, तिगांव विधायक राजेश नागर, बडखल विधायक सीमा त्रिखा ,चीफ़ मिनिस्टर साहब के राजनैतिक सचिव अजय गौड़ एवम् शहर के कई सीनियर अधिकारी भी उपस्थित थे ।एसोसिएशन के प्रधान वीरभान शर्मा ने बताया कि माननीय सी एम साहब ने उनकी समस्याओं एवम् मांगों को विस्तार से सुना। उन्होंने अस्वासन दिया कि आईएमटी के निम्न स्तर इन्फ्रास्ट्रक्चर (सड़क सीवरेज एवम् ड्रेनेज) सुधार के लिए एचएसआईआईडीसी को बहुत जल्द बजट मंजूर करके निर्देश दे दिए जायेंगे ताकि ये सब जल्द से जल्द हो जाए । साथ ही राजनीतिक सचिव अजय गौड़ को चण्डीगढ़ से एचएसआईडीसीसी के सीनियर अधिकारी को जल्द दौरा करने का निर्देश देने को भी कहा ।सीएम साहब ने आईएमटी को बल्लबगढ़ मेट्रो से जोड़ने तथा शहर को मदर यूनिट देने की बात पर भी विचार करने का आश्वासन दिया ।इस विचार विमर्श में फरीदाबाद आईएमटी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के महासचिव चन्द्र शेखर गोयल एवम् उपप्रधान कृष्ण कौशिक भी शामिल थे।

Posted by: | Posted on: August 7, 2020

रोटरी क्लब ऑफ फरीदाबाद आईएमटी द्वारा एचएसआईआईडीसी के सहयोग से श्रमिकों का कोविड टैस्ट करवाया गया

फरीदाबाद(विनोद वैष्णव ) | रोटरी क्लब ऑफ फरीदाबाद आईएमटी द्वारा एचएसआईआईडीसी के सहयोग से श्रमिकों का कोविड टैस्ट करवाया गया तथा रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में पृथला के विधायक नयनपाल रावत के बड़े भाई यशपाल यादव मौजूद रहे जबकि सम्मानीय अतिथि के रूप में एचएसआईआईडीसी के इस्टेट ऑफिसर विकास चौधरी व असिस्टेंट गर्वनर अमरजीत सिंह लांबा मौजूद रहे। इस मौके पर पूर्व डिस्ट्रिक गर्वनर विनय भाटिया, डिस्ट्रिक सैकेटरी अमित जुनेजा, क्लब के चार्टर प्रैसीडेंट रोटेरियन मनोज आहुजा, चीफ पैटर्न पप्पूजीत सिंह सरना,चार्टर सैक्रेटरी विकास टांटिया, चार्टर कोषाध्यक्ष अमित जुनेजा, वाइस प्रैसीडेंट मोहिंद्र अरोड़ा, ज्वाइंट सैकेटरी समीर सपरा ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया तथा क्लब के अन्य सदस्य रोटेरियन राजेश शर्मा, राजेश महेंद्रु, वीपी गोयल, साहिल मेहता, कुनाल बवेजा, राजीव गुप्ता, हेमंत शर्मा, आशु कुमार, अनूप दमानी, सतीश सिंघल, साहिब सिंह, डा. मनी आहुजा, नीलकंठ मैर आदि उपस्थित रहे जबकि रोटरी क्लब फरीदाबाद ईस्ट के प्रधान रोटेरियन वेद अदलक्खा व रोटेरियन गुलशन नारंग मौजूद रहे। वहीं फिम्टा से प्रधान वीरभान शर्मा, जीएस दहिया, सुभाष चंद्र भी मौजूद रहे। इस मौके पर रोटेरियन पीजेएस सरना व मनोज आहुजा ने बताया कि क्लब के गठन के पहले प्रोजैक्ट के तौर पर आईएमटी के 140 श्रमिकों का कोविड टैस्ट करवाया गया जिसमें से 8 लोग पॉजिटिव निकले। वहीं रक्तदान शिविर में 52 युनिट रक्त एकत्रित किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित यशपाल रावत ने रोटरी क्लब आईएमटी के प्रयासों की सराहना की वहीं एचएसआईआईडीसी के इस्टेट ऑफिसर विकास चौधरी ने बताया कि कोरोना महामारी में वे लगातार काम कर रहे हैं तथा मास्क और सैनीटाइजर हजारों की संख्या में वितरित कर चुके हैं और अब रोटरी क्लब आफ फरीदाबाद आईएमटी के सहयोग से कोविड टैस्ट व रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है। उन्होंने इसके लिए पीजेएस सरना, मनोज आहुजा व संपूर्ण क्लब के सदस्यों का आभार व्यक्त किया और कहा कि वे आईएमटी में अधिक से अधिक कोरोना टैस्ट करवाने के लिए क्लब से अपील करेंगे। इस मौके पर डा. यादव भी मौजूद रहे। वहीं अमरजीत सिंह लांबा ने कहा कि रोटरी क्लब ऑफ फरीदाबाद आईएमटी का उद्देश्य जनसेवा करना है और आने वाले समय में अनेक जनसेवा के कार्य किए जाएंगे।

Posted by: | Posted on: August 6, 2020

फरीदाबाद के फिक्की के चैयरमेन एवं प्रसिद्ध उधोगपति,परफेक्ट ब्रेड के के डायरेक्टर एच के बत्रा की पत्नी ने अपने घर को दिये से रोशन कर दिवाली जैसा माहौल बनाया एवं जय श्री राम के जयकारे लगाए

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | फरीदाबाद के फिक्की के चैयरमेन एवं प्रसिद्ध उधोगपति,परफेक्ट ब्रेड के के डायरेक्टर एच के बत्रा की पत्नी ने अपने घर को दिये से रोशन कर दिवाली जैसा माहौल बनाया एवं जय श्री राम के जयकारे लगाए |

अयोध्या में प्रभु राम के मंदिर निर्माण के लिए बुधवार को जैसे ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन किया,उसके साथ ही फरीदाबाद शहर में भी उल्लास छा गया । औद्योगिक नगरी फरीदाबाद में भी बुधबार शाम को सभी ने घी के दिए जलाये । मंदिरों के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए भले ही कोरोना संक्रमण के चलते प्रशासनिक आदेश से बंद हों, पर इसकी बाह्य व भीतरी साज-सज्जा पर तो कोई असर नहीं है। इसलिए मंदिरों को बिजली एवं दियो की रोशनी से सजाया गया है। भगवान राम परिवार की प्रतिमाओं के लिए नए वस्त्र पहनाये गये । घर -घर दीपावली जैसी चमक रही |

Posted by: | Posted on: July 27, 2020

उड़ान NGO के द्वारा ऑनलाइन तीज का तीन दिवसीय आयोजन किया गया :-सारिका

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | प्रति वर्ष उड़ान NGO फ़रीदाबाद शहर में बड़े स्तर पर तीज मेले का आयोजन करता था ।परन्तु इस बार कोरोना वैश्विक महामारी के कारण उड़ान संस्था के द्वारा ऑनलाइन तीज का तीन दिवसीय आयोजन किया गया।जिसमें विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं में सभी प्रतिभागियों ने बड़े ही उत्साह से भाग लिया।सर्व श्रेष्ठ गायन में नेहा सक्सेना ने बाज़ी मारी और सबसे उत्तम नृत्य प्रतिभा तिवारी का रहा। सबसे सुंदर मेहंदी वाले हाथ सरिता यादव और सबसे मनमोहक चूड़ी वाले हाथ मनीषा सिंगला के रहे।अनेक प्रतिभागियों में से तीज क्वीन क्वीन की हक़दार प्रथम स्थान पर एकता चौधरी,दूसरे स्थान पर हेमलता उप्पल और तृतीय स्थान पर बबीता सचदेवा रही।ऑनलाइन निर्णय देने की भूमिका उड़ान संस्था की कोर टीम राजेश बाला सरधाना,सारिका गुप्ता,अंजना रावत ,साधना जैन,मीनाक्षी गुप्ता और सीमा छाबड़ा ने निभाई।सभी प्रतिभागियों को गिफ़्ट हेम्पर और सर्टिफ़िकेट दिए गये।कोरोना काल की इस ऑनलाइन तीज उत्सव का सभी ने भरपूर आनंद लिया।

Posted by: | Posted on: July 27, 2020

कोविड-19 महामारी के कारण हरियाणा के कई प्राइवेट शिक्षण संस्थान की हालात काफी खराब एवं बंद होने की कगार पर खड़े है :- प्रधान रमेश डागर /प्रवक्ता दीपक यादव

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव ) | कोविड-19 महामारी के कारण हरियाणा के कई प्राइवेट शिक्षण संस्थान की हालात काफी खराब है जिसको लेकर प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन ने प्राइवेट शैक्षिक संस्थानों को राहत पैकेज देने की मांग की है। प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सीएम हरियाणा मनोहर लाल और एचआरडी मिनिस्टर गवरमेंट ऑफ इंडिया को लेटर भेजकर प्राइवेट स्कूलों के लिए रिलीफ फंड जारी करने की मांग रखी है। ज्यादा जानकारी देते हुए प्राइवेट स्कूल्स के स्टेट प्रेसिडेंट रमेश डागर ने बताया कि हरियाणा के निजी स्कूलों ने बंद के चलते फीस जमा न होने पर सरकार से विशेष राहत पैकेज की मांगा की है कोरोना के चलते आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे निजी स्कूलों के लिए तुरंत राहत पैकेज की घोषणा की जाए। स्टेट प्रेसिडेंट रमेश डागर ने लेटर के माध्यम से कहा है कि 5 से 10 प्रतिशत अभिभावकों को छोड़कर किसी भी सक्षम अभिभावक ने भी फीस जमा नहीं करवाई है। शिक्षा विभाग के अलग-अलग लेटर जारी करने से अभिभावकों में भ्रांति पैदा हो गई है। इसलिए सक्षम अभिभावक को एक-एक महीने के हिसाब से ही फीस जमा कराने के स्पष्ट आदेश जारी किए जाएं।  फीस नही आने के कारण इस संकट मैं स्टाफ का वेतन, बिजली, पानी का बिल, बसों की किस्त, बीमा, परमिट, रोड टैक्स, रिन्यूअल व अन्य स्कूल खर्चों को पूरा करना आसान नहीं है। इन सब मांगों को लेकर हमने प्राइवेट स्कूलों की परेशानियों को सरकार के समक्ष रखा है। स्टेट जनरल सेक्रेटरी गौरव पराशर ने कहा है कि सरकार के आदेश मानते हुए हमने अभिभावकों से सिर्फ एक महीने के हिसाब से सिर्फ ट्यूशन फीस देने की मांग की । लेकिन कुछ ही प्रतिशत अभिभावकों ने फीस जमा की है। जिसके कारण बच्चों को ऑन लाइन पड़ा रही क्लास टीचर्स को सैलरी देना हमारे लिए एक चुनोती बन चुकी है। अब तक तो हम टीचर्स को सैलरी किसी न किसी रूप में देते रहे है लेकिन जब अभिभावक फीस नही देंगे तो हम टीचर्स को कैसे सैलरी देगे । इसके अलावा स्कूल संचालकों के सामने कई स्कूल के लोन है जो की सबसे बड़ी मुसीबत है। इस मुद्दे पर प्रदेश मीडिया प्रभारी दीपक यादव ने कहा कि प्रदेश में 80 प्रतिशत स्कूल तो पहले ही घाटे में चल रहे हैं। इनमें से भी बहुत से स्कूलों की तो पिछले सत्र की फीस भी नहीं आई है। सरकार विशेष राहत पैकेज जारी करे ताकि महामारी के दौर में स्टाफ की सैलरी व अन्य खर्चों को पूरा किया जा सके। कोविड-19 के कारण प्राइवेट शैक्षिक संस्थान कई माह से बंद है, प्रवक्ता दीपक यादव ने कहा कि सरकार तकरीबन सभी क्षेत्रों के लिए राहत पैकेज घोषित कर रही है, लेकिन प्राइवेट शैक्षिक संस्थानों के लिए अभी तक किसी प्रकार के राहत पैकेज की घोषणा नहीं की गई। इन सब बातों को अमल में लाने के लिए ही सरकार के सामने प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन ने लेटर लिखकर राहत पैकेज की मांग रखी है।