एम वी एन विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया

now browsing by tag

 
32वें अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड षिल्प मेले में आज हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी पहुंचे awesome blog company environment magazine music new technology आदर्श महिला महाविद्यालय के चुनाव में महासचिव पद के लिए अशोक बुवानीवाला एवं कोषाध्यक्ष पद के लिए सुंदरलाल अग्रवाल लगातार दूसरी बार विजयी रहें उद्योग मंत्री विपुल गोयल के उपहारों से पीएम राहत कोष के लिए एकत्र हुए ढाई करोड़ एमवीएन विश्वविद्यालय एम वी एन विश्वविद्यालय के तत्वाधान में एम वी एन स्कूल के सभागार कक्ष में विश्वविद्यालय द्वारा अंतिम वर्ष के छात्र/छात्राओं के लिए विदाई समारोह का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया एमवीएन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ लॉ के छात्रों ने भारतीय संसद के लोकसभा एम वी एन विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया एमवीएन विश्वविद्यालय में महामहिम राज्यपाल द्वारा विश्वविद्यालय के 445 विद्यार्थियों को डिग्री प्रदान की जायेगी ऑफिस हो कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल की अपील पर सभी धर्म के लोगों ने धार्मिक स्थलों पर फहराया तिरंगा कॉलेज हो जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पलवल टैगोर पब्लिक स्कूल टैगोर पब्लिक स्कूल की छात्रा दीक्षा तिवारी ने खेल टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक प्राप्त करके स्कूल का नाम रोशन किया तरुण निकेतन पब्लिक स्कूल दा न्यू ऐज सी॰ से॰ स्कूल-रोनीजा पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल की विधानसभा को मिलकर बनाएंगे क्लीन एंड ग्रीन- संजय बत्रा पल्ला नंबर 1 पूर्व विधायक आनन्द कौशिक ने परिवर्तन बस यात्रा का भव्य स्वागतभीड़ देख गदगद हुए गुलाम नबी आजाद प्रदेश सरकार द्वारा ऑनलाईन सरसों खरीदने की योजना से व्यापारियों को नुकसान हो रहा है फैशन एंड लाइफस्टाइल एग्जीबिशन रेडिसन ब्लू में 13 फरवरी को :-नूपुर गुप्ता बाल कल्याण पब्लिक सीनियर सेकंडरी स्कूल का रिजल्ट रहा अच्छा ब्लयू एंजिल ग्लोबल स्कूल में क्रिसमस समारोह का आयोजन किया गया भाजपा सरकार में कर्मचारियों को लाठियों के रुप में मिले अच्छे दिन : विकास चौधरी मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल मानव रचना शैक्षणिक संस्थान ने फरीदाबाद पुलिस को भेंट की स्कॉर्पियो कार मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि किसान को लाभ देने के लिए सरकार ने गोबरधन योजना शुरू की विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र ने किकबॉक्सिंग में जीता पदक विधायक नगेन्द्र भडाना ने राजीव कालोनी में लक्ष्मी डेयरी वाली गली में बनने वाली सीमेटिड सडक का विधिवत शुभारंभ किया विधायक मूलचंद शर्मा के भाई टीपरचंद शर्मा ने आज बल्लबगढ़ विधान सभा क्षेत्र में विकास कार्यों का निरिक्षण किया और कमी पाए जाने पर अधिकारीयों को जमकर लताड़ लगायी विधायक मूलचंद शर्मा ने बल्लबगढ़ विधानसभा क्षेत्र के वार्ड न- 36 में 33 लाख रूपये की लागत से बनने वाली  रोड के कार्य का नारियल फोड़कर शुभारम्भ किया वृंदा इंटरनेशनल स्कूल में मातृदिवस के अवसर पर माँ का महत्व बताया :- विजय लक्ष्मी शक्तिपीठ पब्लिक स्कूल ने मनाया क्रिसमस सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा आयोजित मानवता-फेस्ट-2018 सतयुग दर्शन वसुन्धरा में रामनवमी यज्ञ महोत्सव पर - विशाल शोभा-यात्रा का आयोजन हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट के जिला प्रधान बने राजेन्द्र दहिया होली चाइल्ड पब्लिक स्कूल ने सामाजिक दायित्व निभाते नेत्रहीन खिलाड़ियों को 10 हज़ार रुपये का चेक भेंट किया
 
Posted by: | Posted on: September 8, 2018

एम वी एन विश्वविद्यालय में वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे का आयोजन

पलवल (विनोद वैष्णव )| एम वी एन विश्वविद्यालय के परिसर में स्कूल ऑफ एलाइड हेल्थ साइंसेस द्वारा दो दिवसीय वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे का शुभारंभ मां सरस्वती व गणेश वंदना से किया गया। इस कार्यक्रम के शुभारंभ पर फिजियोथैरेपी विभाग की विभागाध्यक्षा डॉ दिव्या अग्रवाल ने दो दिवसीय वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे के उपलक्ष में होने वाले कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की और बताया कि इस अवसर पर पुन्हाना (मेवात) में निःशुल्क स्वास्थ्य व परीक्षण शिविर लगाया और विभिन्न प्रकार के जोड़ों और मांसपेशियों की समस्याओं का समाधान आधुनिक उपकरणों द्वारा किया गया। कैंप लगाने का मुख्य उद्देश समाज में एम वी एन विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं में सेवा भावना को प्रबल करना था जिससे वह विद्यार्थी पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद समाज में निष्काम भाव और बिना लोभ के कार्य कर सकें। इस कैंप के द्वारा लगभग डेढ़ सौ व्यक्तियों ने स्वास्थ्य लाभ लिया।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 (डॉ) जे  वी देसाई ने विधिवत रुप से दीप प्रज्वलित कर बताया कि हमारी जीवन शैली दिन प्रतिदिन भाग दौड़ के कारण अस्त.व्यस्त होती जा रही है जिसके लिए हमें सूर्य नमस्कार आसन जैसी कारगर विधि का प्रयोग करना जरूरी है। वहीं फिजियोथैरेपी योग का ही विशुद्ध रूप है। फिजियोथैरेपी में मरीज की मांसपेशियों की गतिविधियों को समझकर उसका इलाज करते हैं। इस अवसर पर उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं व प्राध्यापकों को वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे की शुभकामनाएं दी और कहा कि आने वाला भविष्य उनका है।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने अपने उद्गार में कहा कि एम वी एन विश्वविद्यालय अत्याधुनिक एवं सुसज्जित उपकरणों की सहायता से अध्ययन-अध्यापन के साथ-साथ वाह्य रोगी विभाग भी सफलतापूर्वक संचालित कर रहा है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय के आसपास के ग्रामों के विभिन्न ग्रामीणों द्वारा इसका लाभ उठाया जा रहा है और कहा कि गठिया और स्पाइनल इंजरी जैसी जटिल बीमारियों का इलाज फिजियोथैरेपी में संभव हैए वहीं किसी भी प्रकार का साइड इफेक्ट का ना होना इस को आकर्षक बनाता है।
इस अवसर पर फिजियोथेरेपी विभाग के विद्यार्थियों द्वारा सुप्रसिद्ध नृत्यांगना एवं अभिनेत्री सुधा चंद्रन के जीवन पर आधारित नाटक की प्रस्तुति की गई कि कैसे उन्होंने एक दुर्घटना में अपने पैर को गॅंवाने  के बाद फिजियोथेरेपी की मदद से पुन्हः जीवन में सफलता प्राप्त की दूसरी ओर तृप्ति गर्ग ने एक कविता का पाठ किया और बताया कि सफलता एक चुनौती है और उसे स्वीकार करो क्योंकि कोशिश करने वालों की हार कभी नहीं होती।
इस अवसर पर डॉ ज्योति गुप्ता, डॉ विनीत सिन्हा, डॉ सचिन गुप्ता, डॉ ज्योति चावला, मुकेश सैनी, तरुण विरमानी, डॉ राहुल वार्ष्णेय, डॉ अनु भारती, डॉ ज्योत्स्ना ऐरी, डॉ पवन शर्मा, सुजीत, दयाशंकर प्रसाद, मोहित मंगला, मोहित संधूजा, कीर्ति वशिष्ठ, धरमवीर, अशोक आदि उपस्थित थे।
Posted by: | Posted on: May 1, 2018

एम वी एन विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया

( विनोद वैष्णव )|  एम वी एन विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ  कुलपति प्रो. (डॉ) जे.वी. देसाई  और माननीय कुलसचिव डॉ. राजीव रतन , प्रो. (डॉ.) बदरुद्दीन, डॉ. विनीत सिन्हा जी, डॉ दिशा सचदेवा जी द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया।कार्यक्रम के संचालक  तरुण विरमानी  ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय तौर पर श्रमिक दिवस मनाने की शुरुआत 4 मई 1886 को हुई थी। अमेरिका में श्रमिक संघों ने मिलकर निश्चय किया कि वे 8 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेंगे, जिसके लिए संगठनों ने हड़ताल की। इस हड़ताल के दौरान शिकागो की हेमार्केट में बम ब्लास्ट हो गया। जिससे निपटने के लिए पुलिस ने मजदूरों पर गोली चला दी, जिसमें कई श्रमिकों की मौत हो गई और 100 से ज़्यादा लोग घायल हो गए। इसके बाद 1889 में अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन मैं घोषणा की गई की गई कि हेमार्केट नरसंघार में मारे गए निर्दोष लोगों की याद में 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस के रुप में मनाया जाएगा। भारत में श्रमिक दिवस कामकाजी लोगों के सम्मान में मनाया जाता है। भारत में लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान ने 1 मई 1923 को मद्रास में इसकी शुरुआत की थी, हालांकि उस समय इसे मद्रास दिवस के रुप में मनाया जाता था। 1 मई को श्रमिकों/कामगारों के समाज में योगदान और सम्मान में प्रत्येक वर्ष श्रमिक दिवस मनाया जाता है जिसे हम लेबर डे, मई दिवस, श्रमिक दिवस आदि नामों से भी जानते हैं। इस दिन समाज निर्माण में श्रमिकों, कामगारों, मजदूरों की महत्ता का सम्मान किया जाता है।

इस अवसर पर विधि विभाग के वरिष्ठ प्रवक्ता डॉ. राहुल वार्ष्णेय जी ने श्रमिकों की मुख्य समस्याएं का उल्लेख करते हुए बताया कि भारत में श्रमिकों और कामगारों की प्रमुख समस्याएं जैसे कामगारों में शिक्षा का अभाव, कार्य के अनियमित एवं अनिश्चित घंटे होना, स्थायित्व का अभाव एवं मालिकों की दूषित मनोवृत्ति का होना। प्रतिकूल कार्य की दशाएं एवं लघु व कुटीर उद्योगों का पतन होना मुख्य हैं।

उन्होंने बताया भारत में श्रम नीति, सामाजिक सुरक्षा एवं न्याय की विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुरूप विकसित हुई है और इसके दो मुख्य उद्देश्य रहे हैं। देश में औद्योगिक शांति बनाए रखना और श्रमिकों के कल्याण को हर परिस्थिति में सुरक्षित एवं प्रोत्साहन देना। श्रमिकों एवं कामगारों के अधिकारों के लिए कई प्रकार के कानून एवं नियम हैं,जिसमें समय समय पर संशोधन किया जाता है। जिसमें कुछ मुख्य नियम: न्यूनतम मजदूरी अधिनियम 1948, ठेका मजदूरी

अधिनियम 1970, प्रसूति लाभ अधिनियम 1961, समान मजदूरी अधिनियम 1976, श्रमिक मुआवजा अधिनियम 1923,

कर्मचारी राज्य बीमा योजना अधिनियम 1948, ग्रेच्युटी भुगतान अधिनियम 1972, राष्ट्रीय बाल श्रमिक नीति 1987, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद 1996, रोजगार एवं प्रशिक्षण निदेशालय हैं। जिनसे श्रमिकों/कामगारों के अधिकारों का प्रवर्तन करवाया एवं किया जा सकता है जिससे समाज में उनके सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा के न्याय को प्राप्त किया जाता है।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. (डॉ.) देसाई जी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस लाखों श्रमिकों के परिश्रम, दृढ़ निश्चय और निष्ठा का दिवस है। किसी भी समाज, देश, संस्था और उद्योग में काम करने वाले श्रमिकों की अहम एवं महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इमारत हो या राष्ट्र, उसकी नींव की आधारशिला श्रमिकों के श्रम से ही होती है। अतः श्रमिकों को उचित सम्मान देना हम नागरिकों, उद्योगपतियों एवं सरकारों का प्रथम कर्तव्य है।इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय के कर्मचारी गणों के योगदान का आभार व्यक्त किया एवं उन्हें प्रोत्साहित किया की एम वी एन संस्था को और अधिक दक्षता से अग्रसर किया जा सके।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के समस्त कर्मचारी गणों के लिए सौ मीटर दौड़, वॉलीबॉल और क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें 100 मीटर दौड़ में महिला प्रतियोगियों में रामवती प्रथम, शीला द्वितीय, देववती तृतीय स्थान पर रहीं वहीं 40 वर्ष से कम पुरुष प्रतियोगियों में दीपक प्रथम, तौफीक द्वितीय, किस्मत तृतीय स्थान पर रहे दूसरी ओर 40 वर्ष से अधिक 100 मीटर दौड़ में करण माली ने प्रथम स्थान, महेंद्र द्वितीय और कुंवरपाल तृतीय स्थान पर रहे। वॉलीबॉल खेल में महेश की कप्तानी में विश्वविद्यालय परिवहन विभाग की टीम ने प्रथम स्थान और दिनेश की कप्तानी में विश्वविद्यालय सुरक्षा कर्मी  की टीम ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया वहीं क्रिकेट में विश्वविद्यालय परिवहन विभाग   की टीम ने जीत हासिल की। अंत में उनके लिए जलपान की व्यवस्था भी की गई।

कार्यक्रम के अंत में माननीय कुलसचिव डॉ. राजीव रतन जी ने सभी लोगों का धन्यवाद प्रस्तुत किया और कहा श्रमिक का मतलब हमेशा गरीब से नहीं होता है श्रमिक वह इकाई है जो हर सफलता का अभिन्न अंग है, फिर वह चाहे ईंट गारे से सना इंसान हो या ऑफिस की फाइल्स के बोझ तले दबा एक कर्मचारी। हर इंसान जो किसी संस्था के लिए श्रम करता है और बदले में पैसे लेता है श्रमिक कहलाता है। श्रमिक/कामगार पैसा कमाने के लिए काम नहीं करते हैं बल्कि जीवन न्याय संगत हो इसके लिए कार्य करते हैं। श्रमिक ही एक ऐसा व्यक्ति है जो आपके सपनों को साकार करने के लिए अपना पसीना बहाता है।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव श्रीमान दीपक मिश्रा जी, सहकुलसचिव श्री कपिल चौहान जी, श्रीमान त्रिलोक शर्मा जी, खेलकूद प्रशिक्षक श्री राम कुमार जी,एस्टेट मैनेजर श्री विवेक चौधरी जी ने अपने समस्त सहयोगियों के साथ इस कार्यक्रम में उपस्थित होकर सहयोग व प्रतियोगियों का समर्थन किया।