जम्मू-कश्मीर की वादियों में लिंग्याज विद्यापीठ ने लॉच की चार करोड़ की छात्रवृत्ति योजना

Posted by: | Posted on: 1 week ago

फरीदाबाद (विनोद वैष्णव) : लिंग्याज विद्यापीठ के लिए बहुत ही गर्व का क्षण है, क्योंकि L-SET (22-23) के कश्मीर चैप्टर, कोरोना योद्धाओं, पूर्व सैनिकों के बच्चों और मेधावी छात्रों के लिए चार करोड़ की छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई। जिसके तहत छात्रों को लिंग्याज छात्रवृत्ति प्रवेश परीक्षा (L-SET) के लिए उपस्थित होना होगा। इस स्कॉलरशिप में ट्यूशन फीस पर 100 फीसदी तक की छूट दी जाएगी। बहुत मामूली भुगतान पर, एक छात्र ऑनलाइन परीक्षा का प्रयास करने के लिए दो अवसरों का लाभ उठा सकता है।

लिंग्याज विद्यापीठ की ओर से कश्मीर में आयोजित इस भव्य आयोजन में शेख जुल्फकार आजाद एसएसपी सुरक्षा (कश्मीर) ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की और कहा कि छात्रों को अलग-अलग जगहों पर पढ़ना और सीखना चाहिए। इससे छात्रों को कई तरह की भाषाओं का भी ज्ञान प्राप्त हो सकेगा। वही डॉ. हिलाल, पुलिस उपाधीक्षक ने भी इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में अपनी उपस्थिती दर्ज कराई। इस अवसर पर अतिथियों ने लिंग्याज विद्यापीठ के प्रयासों की सराहना की और कहा कि यह योग्य छात्रों के लिए एक वरदान साबित होगा। लिंगयस ग्रुप के चेयरमैन डॉ. पिचेश्वर गड्डे ने अपने मुख्य भाषण में हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर के कोरोना योद्धाओं, पूर्व सैनिकों के बच्चों व मेधावी छात्रों को 4 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति का बहुमूल्य उपहार दिया। विद्यापीठ की प्रो वाइस चांसलर प्रो. (डॉ.) जसकिरन कौर ने वहां उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहां कि इस स्कॉलरशिप को शुरू करने का उद्देश्य योग्य छात्रों की प्रतिभा की पहचान करना और उन्हें पेशेवर और तकनीकी पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना है। विश्वविद्यालय का प्रयास है कि मेधावी छात्रों को अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करने का मौका मिले। यह वास्तव में उनके लिए एक बड़ा पुरस्कार है, क्योंकि इस छात्रवृत्ति योजना से कई छात्र अब अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

उपस्थित लोगों को छात्रवृत्ति के लिए अंकों की गणना पर आगे स्पष्टीकरण प्रदान किया गया। प्लेसमेंट और कॉरपोरेट रिलेशंस के उप निदेशक विक्रांत अग्रवाल ने कहा कि विद्यापीठ के कई छात्रों को उद्योग में बहुत उच्च और सम्मानजनक पदों पर रखा गया है और इस प्रकार लिंगयाज विरासत को गर्व से आगे बढ़ा रहें है। इस दौरान आयोजित प्रेस वार्ता में डॉ. गड्डे, प्रो. (डॉ.) जसकिरन कौर और विक्रांत अग्रवाल ने उनके प्रश्नों के उत्तर भी दिए। लिंग्याज विद्यापीठ के कश्मीरी पूर्व छात्रों ने परिसर में अपने अपने जीवन की सुखद यादों पर चर्चा की। डॉ. गड्डे ने कार्यक्रम में उपस्थित प्रेस के माननीय सदस्यों का अभिनंदन किया। विक्रांत ने इस अवसर की शोभा बढ़ाने के लिए अपने व्यस्त कार्यक्रम से अपना कीमती समय निकालने के लिए विशिष्ट अतिथियों और अन्य गणमान्य व्यक्तियों को धन्यवाद दिया।





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *